लक्ष्य प्राप्ति के लिए जीवन में उतारें ये 5 नियम | 5 Golden rules of Goal setting

5 Golden rules of Goal setting

5 golden rules of goal setting

5 Golden rules of Goal setting: अगर आप कभी किसी बच्चे से पूछें कि वो बड़ा होकर क्या बनना चाहता है या उसके क्‍या सपने हैं तो वह समय-समय पर अपने विचारों में बदलाव करता हुआ नजर आयेगा। लेकिन व्यक्ति अगर समझदार होने के बाद भी इसी तरह बार-बार अपना लक्ष्य बदलता रहता है! अकसर देखा गया है कि असफल लोग निराश होकर अपना रास्ता बदल देते हैं, तो कुछ लोग दूसरों के कहने पर या उनकी देखा-देखी अपना रास्ता बदल देते हैं।

क्‍योंकि उन्‍हें नहीं पता हैं कि अपने Goal को कैसे Decide करे? Goal होता क्‍या हैं? Goal को कैसे हासिल किया जा सकता हैं। दोस्‍तों! आज के लेख (5 Golden rules of Goal setting) में इन सारी बातों को जानेगें।

Popular Article जरुर पढ़ें:- सपने बड़े देखें But Why? What is Dream Meaning Think Big

सबसे पहले इस कहानी के माध्‍यम से जानने कि कोशिश करते हैं कि लक्ष्‍य को पाने के लिए सबसे ज्‍यादा जरूरी क्‍या हैं?

तो चलिए शुरू करते हैं ये कहानी:

अपने लक्ष्य के प्रति ईमानदार रहने वाले को ही मिलती है सफलता

एक बार की बात है, एक निःसंतान राजा था। वह बूढा हो चुका था और उसे राज्य के लिए एक योग्य उत्तराधिकारी की चिंता सताने लगी थी। योग्य उत्तराधिकारी के खोज के लिए राजा ने पुरे राज्य में ढिंढोरा पिटवाया कि रविवार के दिन शाम को जो मुझसे मिलने आएगा, उसे मैं अपने राज्य का एक हिस्सा दूंगा।

राजा के इस निर्णय से राज्य के प्रधानमंत्री ने रोष जताते हुए राजा से कहा:- महाराज! आपसे मिलने तो बहुत से लोग आएंगे और यदि सभी को उनका भाग देंगे तो राज्य के टुकड़े-टुकड़े हो जाएंगे। ऐसा काम न करें।

राजा ने प्रधानमंत्री को आश्वस्त करते हुए कहा:-  प्रधानमंत्री जी! आप चिंता न करें, देखते रहें, क्या होता है?

निश्चित दिन, रविवार को जब सबको राजा से मिलना था, उस दिन राजमहल के बगीचे में, राजा ने एक विशाल मेले का आयोजन किया। मेले में नाच-गाने और शराब की महफिल सजा दी, खाने के लिए अनेक स्वादिष्ट पदार्थ रखे गये, मेले में कई खेल का भी आयोजन किया गया।

राजा से मिलने आने वाले कितने सारे लोग नाच-गाने में रूक गए, कितने ही सुरा-सुंदरी में, कितने ही अपने पसंदिदा खेलों में मशगूल हो गए तथा कितने ही खाने-पीने, घूमने-फिरने के आनंद में डूब गए। इस तरह समय बीतने लगा।

इन सभी के बीच एक व्यक्ति ऐसा भी था जिसने किसी चीज की तरफ देखा भी नहीं। उसके मन में निश्चित ध्येय था कि उसे राजा से मिलना ही है। इसलिए वह हर चीज से मोह माया त्‍याग कर, सारे मनोरंजन कि चीजो को नजरअंदाज करते हुए, बगीचा को पार करते राजमहल के दरवाजे पर पहुंच गया।

Remove term: how to achieve a goal successfully how to achieve a goal successfully5 golden rules of goal setting

पर वहां खुली तलवार लेकर दो चौकीदार खड़े थे, उन्होंने उसे रोका। उन्हें अनदेखा करके और चौकीदारों को धक्का मारकर वह दौड़कर राजमहल में चला गया क्योंकि वह निश्चित समय पर राजा से मिलना चाहता था।

जैसे ही वह अंदर पहुंचा, राजा उसे सामने ही मिल गए और उन्होंने कहा, मेरे राज्य में कोई व्यक्ति तो ऐसा मिला जो किसी प्रलोभन में फंसे बिना अपने लक्ष्‍य तक पहुंच सका। तुम्हें मैं आधा नहीं पूरा राजपाट दूंगा। तुम मेरे उत्तराधिकारी बनोगे। आज से इस राज्‍य का राजा तुम बनोगें।

Moral of the story:-

सफल वही होता है जो लक्ष्य का निर्धारण करता है, उस पर अडिग रहता है, रास्ते में आने वाली हर  कठिनाइयों का डटकर सामना करता है और छोटी-छोटी कठिनाईयों को नजरअंदाज कर देता है।

किसी के कहने से अगर आज हम अपना रास्ता बदल रहे हैं, तो हमें यह समझना चाहिए कि जो आज हमें सलाह दे रहा है कल हमारा मुश्किल आने पर वह हमारा साथ देगा या नहीं। अगर ऐसा नहीं है, तो हमें भी किसी के कहने पर अपना रास्ता नहीं बदलना चाहिए।

हमारे रास्ते में कई प्रलोभन भी आते हैं, अगर हम उनमें अटक गए तो मंजिल से भटकना तय है। इसलिए अपने लक्ष्य की ओर बढ़ते समय प्रलोभन में अटकने से बचना चाहिए।

5 Golden rules of Goal setting

हर व्यक्ति के पास दिन के 24 घंटे होते हैं लेकिन कुछ को अपना काम पूरा करने के लिए यह समय कम पर जाता है तो कई इन्हीं घंटों में अपना काम निपटा लेता है। आप अपने दिन को कैसे manage करते हैं, यह आपकी कामयाबी की दिशा में सबसे अहम पहलू है।

5 golden rules of goal setting in hindi5 Golden rules of Goal setting

किसी भी लक्ष्य को पाने के लिए आपको सही Planning बनानी बहुत जरुरी है। अपने लक्ष्य के अनुसार ही आपको अपनी प्राथमिकताएं चुननी होती है। सफल होने के लिए अपने जीवन में 5 Golden rules of Goal setting यहां बताई जा रही बातें लागू कर सकते हैं-

1. कड़ी मेहनत करें
(Work Hard)

सफलता हासिल करने का पहला मंत्र है कड़ी मेहनत। याद रखें मेहनत का कोई Shortcut नहीं होता। लेकिन आप काम को जल्दी और आसानी से करने के लिए खुद के तरीके विकसित कर सकते हैं।

यदि आप अपने काम में Success चाहते हैं तो उस फिल्‍ड से जुड़ी सारी Knowledge को जानने कि कोशिश करें। जिस दिन आप अपने फिल्‍ड का पक्‍का खिलाड़ी बन गए उस दिन आपके लिए हर लक्ष्‍य आसन हो जायेगा। इसके लिए आपको work hard करने कि जरूर हैं।

2. सकारात्मक सोचें
(Think positive)

 किसी भी परीक्षा की तैयारी के दौरान नकारात्मक विचारों से खुद को दूर रखें। हमेशा Positive Thinking रखें। ठीक वैसे ही कई बार जीवन में बड़ी से बड़ी परेशानी भी सिर्फ आपके खुश रहने से ही दूर हो जाती है। खुश रहने की आदत आपको जीवन में सही फैसला लेना में भी मदद करेगी।

कहा भी जाता हैं यदि मन में सकारात्‍मक सोच हो तो कठिन काम भी आसन हो जाता हैं। इसके लिए आप Negative लोगों से दुरी बना कर रखें और हमेशा Positive सोचे। Top 50 Best Thoughts of the Day in Hindi Image | सुविचार

3. लक्ष्य पर खुद को केंद्रित रखें
(Keep yourself focused on the goal)

यदि आप Student हैं तो बिना फोकस बनाकर कई घंटे पढ़ाई करने से अच्छा है कि कुछ घंटे ध्यान लगाकर पढ़ाई करें या यदि आप Worker हैं तो अपने काम को पुरी मन से करें। कुछ देर ही सही पर मन को एकाग्र रखकर पढ़ाई करें। ठीक उसी तरह असल जीवन में भी अपनी प्राथमिकताओं को फोकस में रखकर उन पर काम करें।

जब तक आपका Goal fixed नहीं होगा तब तक आप लक्ष्‍य तक नहीं पहुच पायेगें। इसलिए सबसे पहले खुद को लक्ष्‍य पर केंद्रित करें और उसी पर फोकस करें, सफलता जरूर मिलेगी। जीवन के 10 सबक सीखाता हैं Covid-19 Pandemic

4. संघर्ष करें
(Do Struggle)

 हमेशा जीवन में बड़े सपने देखें और Long term Goal बनाएं। जब भी ऐसा लगे कि आप हार रहे हैं तो अपने सपनों को याद करें साथ ही साथ अपने माता-पिता को याद करें। ऐसा करने से आपके अंदर संघर्ष करने का हिम्‍मत मिलेगा और खुद को यह अहसास दिलाएं कि आपके सपने इतने कीमती हैं कि ऐसा संघर्ष उन सपनों के सामने कुछ भी नहीं है।

एक महान पुरूष से कहा हैं कि आप अपने साथ Compromise कर लेना लेकिन अपने सपनों के साथ Compromise नहीं करना। आप अंतिम समय तक अपना संघर्ष जारी रखना यहि Attitude आपको सफलता दिलायेगी। Success Story on Struggle: सफल होना हैं तो कड़ी मेहनत करें, Shortcut ना अपनाएं

5. अपनी कमियां स्वीकारें
(Accept your weakness)

यह एक विश्वव्यापी सत्य है कि जीवन में कोई भी व्यक्ति Perfect नहीं होता। हर किसी में कुछ न कुछ कमियां अवश्य होती हैं। लेकिन अगर व्यक्ति न सिर्फ उन कमियों को पहचानें, बल्कि उन्हें स्वीकार करके अपनी कमियों को ही अपनी खूबी बना लेता है तो कोई भी उन्हें सफल होने से नहीं रोक सकता।

इसलिए आप अपनी कमियों को पहचाने और उसे सुधारने कि कोशिश करें। आज तक जितने भी लोग सफल हुए हैं हर किसी में कुछ न कुछ कमियां थी लेकिन उस कमी को सुधार कर ही वो सारे लोग सफल बनें।

इसलिए आज से ही आप अपने कमियों को स्‍वीकार करके दुर करने का कोशिश करें।

दोस्‍तों! ये लेख 5 Golden rules of Goal setting आपको कैसा लगा? यदि यह Hindi Article आपको अच्‍छा लगा तो आप इस लेख (5 Golden rules of Goal setting) को social media पर अपने दोस्‍तोंं और परिवार वालों के साथ Share कर सकते हैं ता‍कि आपका एक Share किसी के सपने को पुरा कर सकता हैं। 

इसके अतिरिक्‍त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें Email भी कर सकते हैं। आप हमारे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते हैं…धन्‍यवाद!

ये भी पढ़ेंं:-



अपनी वैल्यू कैसे बढ़ाए ? 

किसी भी इंसान को परखने के लिए ये हैं 4 तरीके

किसी को भी ना बताए, अपनी ये 5 बातें

Success के लिए Life में Mentor का क्या हैं Role

सफलता के लिए पता होना चाहिए ये 7 बातें

Top 10 Best Motivational Books in Hindi for self help

आत्मविश्वास को कैसे बढ़ाये | 7 Tips to Improve Self-confidence in Hindi

Leave a Reply

close