advertisement

सफलता के 7 नियम | 7 Key to Success in Hindi

  सफलता के 7 नियम | 7 Key to Success in Hindi

  सफलता के 7 नियम

सफल होने के लिए ये 7 गुण जरूरी

आज आप सीखेगे कि सफलता के मार्ग तक पहुंचने के लिए कौन सी ऐसी 7 Key to Success in hindi में है जो आपके जीवन में होना जरूरी हैं!

कई बार हम सफलता के लिए प्रयास तो करते रहते हैं

लेकिन ऐसी कई सारी खुबियां हैं जो हमारे नहीं होने के कारण हम Success के बहुत दुर हो जाते हैं

और फिर सोचते है कि हमें सफलता क्‍यों नहीं प्राप्‍त हुई।

तो आज मैं आपको 7 Key to success in hindi  के बारे में बताऊगाँ जो आपके अंदर होना ही चाहिए

यदि ये गुण इंसान के अंदर नहीं है तो वो इंसान सफलता से दुर रह जायेगा :-

1. क्रियाशील होना
(Be Active)

एक सफल व्‍यक्ति हमेशा क्रियाशील होता हैं । वह हमेशा कुछ न कुछ करते हुए मिलेगा और वो अपने आप को किसी न किसी काम में करते हुए मिलेगा । वह अपने Work को  Complete करने में अपने आप में Busy मिलेगा।

Be Active7 key to success in hindi

जो व्‍यक्ति क्रियाशील नहीं होते हैं वो आपने नई चीजे सीखने में Try  नहीं करतें है But  जो क्रियाशील व्‍यक्ति होते हैं वो अपने आप को हमेशा Update रखने और नई नई चीजों को सीखने में लगे रहते हैं।

आपने देखा होगा वो पढ़ाई के साथ साथ New New Idea  पर काम करते हैं और साथ ही नई चीजे सीखने के लिए अपने आप को तैयार करते रहते  हैं।

इसलिए हमेशा आप, अपने आप को क्रियाशील बना कर रखे।

More readMotivational Speech in Hindi | सफलता के लिए चलते रहना हैं जरूरी

2. ऊंचा लक्ष्‍य बनाना
( Be High Targets)

सफल व्‍यक्ति का दूसरा खुबी होती है वो ऊंचा लक्ष्‍य बनाना हैं वो कभी छोटा लक्ष्‍य नहीं बनाता और वो कभी पास कि नहीं सोचता।

वह बहुत दूर कि दृष्‍टीकोण रखता है और हमेशा दूर कि सोचता है मतलब ये कि 1 से 2 Month में अपने काम का हमे क्‍या Result मिलेगा,

इसके बारे में ना सोच कर कम से कम  Long time (5साल या 10साल) में हमें क्‍या Result मिलने वाला है, इस सब के बारे में सोचता है।

Be High Targets7 key to success in hindi

दूर कि हमें इसलिए सोचनी चाहिए ताकि छोटी – छोटी लक्ष्‍य में होने वाले Problem से लड़ सकें । यदि आप छोटा सोचते हैं तो आपकी मार्ग में आने वाला Problem ही आपको हरा देगा और आपका लक्ष्‍य सपना बन कर रह जाएगा ।

यदि आपका लक्ष्ये जितना छोटा रहेगा , उसे उतना जल्दी  Achieve कर लेगें और आप Satisfied भी हो जाएगे । But आप ना Top Level पर पहुँच पाएगे और ना मजबूत बन पाएगे ।

ऊंचा लक्ष्‍य हमें इसलिए रखना जरूरी है ताकि आप जिस भी Field  में है या Enter करने वाले है उस Field के Top Position पर पहुँच सके । हो सकता है लक्ष्‍य पर पहुँचने में बहुत सारी Problem  आएगी।

” इसका मतलब ये हुआ जितनी बड़ी लक्ष्‍य होगी, उतनी बड़ी Problem से सामना होगा और आप जितना ज्‍यादा Problem को Solve करते हैं  उतना आप  Strong बनते है  Then आपकी सफलता आपकी कदम चुमेंगी । ”

ये भी पढ़े : What is Dream Meaning | सपने बड़े देखें But Why?

 

3.काम को धैर्य पूर्वक करना
(Be Patience)

सफल व्‍यक्ति कि तीसरी सबसे बड़ी खुबी होती है वो अपने काम को धैर्य पूर्वक करता है मतलब Patience के साथ करता है!

Be Patience7 key to success in hindi

आप अपने आस-पास के लोगो को देखेंगे कि वो अपने काम में जल्‍दी रहता है या हरबरी में Work को Complete करता है इसका मतलब वो सफल नहीं हो सकता।

क्‍योकि सफलता के लिए आपके अपने Field में  धर्य का होना बहुत जरूरी है , वो इसलिए कि आपके मार्ग में  छोटी, बड़ी कठिनाईया आयेगी !

Inspirational Story Hindi: संंघर्ष के बिना सफलता नहीं

Take Risks: सफलता के लिए रिस्क लेना जरुरी है!

यदि आपके पास धैर्य नहीं होगा तो आप कठिनाईयों को देख कर डर जाएगे आप डट कर मुकाबला नहीं करगे और Last में आप अपने Field से पीछे हट जाएगे इसलिए आपके अंदर धैर्य का होना जरूरी है।

इससे आप सिखेगें कि उस  Situation से आप बाहर कैसे निकलेगे और हम सही फैसला ले कर आगे बढेगे जो हमारे लिए बहुत जरूरी होगा।

 

     4. अतीत से सीखना व आगे बढ़ना
(Learning from the Past and Moving on)

4th Key to success  सफल व्‍यक्ति की सबसे बड़ी खुबी  है वो अपने अतीत को भुल कर और उससे सीख कर अपने जिन्‍दगी में आगे बढ़ता है!Learning from the Past and Moving on7 key to success in hindi

आप अपने  आस-पास के बहुत से एसे लोगों से मिले होगे जो अपने अतीत को याद कर रोना रोते है और बोलते रहते फिरते है मेरे साथ ये हुआ , मेरे साथ वो हुआ और अपने अतीत के वजह से अपना Present  बर्वाद करते ही है साथ में अपना Future  भी बर्वाद कर लेते है।

वैसे लोग जो Past का रोना रोते रहते है और हमेशा दोष देते रहते है ऐसे लोग जिन्‍दगी में कभी आगे नहीं बढ़ते है।

आपके साथ Past में जो भी कुछ गलत हुआ है बदल तो नहीं  सकते हैं  But उससे सीख कर अपने Present और Future को सुधार सकते है।

ये भी पढ़े :-

Chanakya Niti in Hindi : आत्मविश्वास और धैर्य बढ़ाने के तरीके



Leave a Reply

close