advertisement

देशभक्ति शायरी- Best Desh bhakti shayari in hindi 2021

Best Desh bhakti shayari in hindi 2021

Desh bhakti shayari in hindiBest Desh bhakti shayari in hindi

दोंस्तों! आज हमने देशभक्ति शायरी लिखी है, देशभक्ति हर देशवासी के दिल में होनी चाहिए! हम सब अपने प्यारे भारत देश से बहुत प्यार करते हैं, भारत के लोग देश भक्ति की भावना से भरे हुए हैं।

यह Desh bhakti shayari in hindi आपके भारत के प्रति प्यार को व्यक्त कर सकती है, आप इस देश भक्ति शायरी को अपने Social media पर देश भक्ति कोट्स और देश भक्ति स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकते हैं!

Best Shayari for Desh Bhakti, Desh bhakti Hindi Shayari, New Desh Bhakti Shayari, Latest Desh bhakti Sms, Best Desh bhakti Shayari in hindi 2021

देशभक्ति शायरी- Best Desh bhakti shayari in hindi 2021

जो अब तक ना खौला वो खून नही पानी हैं,
जो देश के काम ना आये वो बेकार जवानी हैं.

jo ab tak na khaula vo khoon nahi pani hai,
jo desh ke kaam na aaye vo bekar jawani hai.

 

लड़ें वो बीर जवानों की तरह,
ठंडा खून फ़ौलाद हुआ,
मरते-मरते भी कईं मार गिराए,
तभी तो देश आज़ाद हुआ.

Lare wo bir jawano ki trah
thand khun phaulad hua,
marte-marte bhi kae mar giraye,
tabhi to desh aajad huaaq

 

फना होने की इज़ाजत ली नहीं जाती,
ये वतन की मोहब्बत है जनाब
पूछ के की नहीं जाती!

phana hone kee izaajat lee nahin jaatee,
ye vatan kee mohabbat hai janaab
poochh ke kee nahin jaati.

 

लड़े जंग वीरों की तरह,
जब खून खौल फौलाद हुआ
मरते दम तक डटे रहे वो,
तब ही तो देश आजाद हुआ!

lade jang veeron kee tarah,
jab khoon khaul phaulaad hua
 marate dam tak date rahe vo,
tab hee to desh aajaad hua!

 

मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा
ये मुल्क मेरी जान है
इसकी रक्षा के लिए
मेरा दिल और जां कुर्बान है

main mulk kee hiphaajat karoonga
ye mulk meree jaan hai
isakee raksha ke lie
mera dil aur jaan kurbaan hai

 

Best Shayari for Desh Bhakti

 

लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है,
उछ्ल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी!

lahu vatan ke shahidon ka rang laya hai,
uchhal raha hai zamane mein naam-e-aazaadi.

 

दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगें,
आजाद हैं और आजाद ही रहेंगें!

dushman ki goliyo ka ham samana karenge,
aajad hain aur aajad hi rahengen.

 

वतन की ख़ाक ज़रा एड़ियां रगड़ने दे,
मुझे यक़ीन है पानी यहीं से निकलेगा!

vatan ki khaak zara ediyaan ragadne de,
mujhe yaqeen hain pani yaheen se niklega

 

दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की नफरत,
मेरी मिटटी से भी खुशबू-ए-वफ़ा आयेगी!

Dil se nikalegee na mar kar bhi vatan ki napharat,
meri mitati se bhi khushaboo-e-vafa aayegi.

 

चाहता हूँ कोई नेक काम हो जाए,
मेरी हर साँस देश के नाम हो जाए!

chahata hu koe nek kaam ho jaye,
meri har saans desh ke nam ho jae.

 

आन देश की शान देश की,
देश की हम संतान हैं,
तीन रंगों से रंगा तिरंगा
अपनी ये पहचान हैं!

aan desh ki shaan desh ki,
desh ki ham santaan hain,
teen rangon se ranga tiranga
apanee ye pahachan hai.

 

अनेकता में एकता ही इस देश की शान हैं,
इसलिए मेरा भारत देश महान हैं!

anekata me yekata hi is desh ki shaan hain,
isliye mera bhaarat desh mahan hain.

 

लिख रहा हूँ मैं अंजाम,
जिसका कल आगाज आएगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा!

likh raha hoon main anjaam,
jiska kal aagaaj aaega,
mere lahoo ka har ek katara inkalaab laega.

 

New Desh Bhakti Shayari

best Desh bhakti shayari in hindiBest Desh bhakti shayari in hindi

 

मैं जला हुआ राख नहीं,
अमर दीप हूँ,
जो मिट गया वतन पर,
मैं वो शहीद हूँ!

main jla hua raakh nahi,
amar deep hoon,
jo mit gaya vatan par,
main vo shaheed hoon.

 

दे सलामी इस तिरंगे को जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका,
जब तक दिल में जान है!

de salaamee is tirange ko jis se teree shaan hain,
sar hamesha ooncha rakhana isaka,
jab tak dil mein jaan hai.

 

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे,
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे,
बची हो जो एक बूंद भी लहू की
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे!

aajadi ki kabhi sham nahi hone denge,
shahidon ki kurbane badanam nahi hone denge,
bachi ho jo yek boond bhi lahu ki
tab tak bharat mata ka aanchal neelaam nahin hone denge.

 

देश को आजादी के नए अफसानों की जरूरत है
भगत-आजाद जैसे आजादी के दीवानों की जरूरत है,
भारत को फिर देशभक्त परवानों की जरूरत है!

desh ko aajadi ke naye aphasanon ki jarurat hai
bhagat-aajaad jaise aajadi ke divanon ki jarurat hai,
bharat ko phir deshabhakt paravano ki jaroorat hai.

 

मेरा “हिंदुस्तान” महान था,
महान है और महान रहेगा,
होगा हौसला बुलंद सबमें
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा

mera “hindustan” mahaan tha,
mahaan hai aur mahaan rahega,
hoga hausala buland sabme
to yek din paak bhi jay hind kahega.

 

आओ झुक कर सलाम करे उनको,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है,
खुशनसीब होता है वो खून,
जो देश के काम आता है!

aao jhuk kar salaam kare unko,
jinke hisse mein ye mukam aata hai,
khushnasib hota hai vo khoon,
jo desh ke kaam aata hai.

 

Best Desh bhakti Shayari in hindi

 

नाज़ है उन जवानों पर,
जिसने देश को बिकने ना दिया,
खुद मर मिटे वतन के नाम पर,
देश का सर झुकने ना दिया!

naaz hai un javanon par,
jisane desh ko bikane na diya,
khud mar mite vatan ke naam par,
desh ka sar jhukane na diya.

 

सांस का हर सुमन है वतन के लिए,
ज़िंदगी ही हवन है वतन के लिए,
कह गयी फांसियों में फसी गर्दनें,
ये हमारा नमन है वतन के लिए!

saans ka har suman hai vatan ke liye,
zindagi hi havan hai vatan ke liye,
kah gayee phasiyo mein phasi gardane,
ye hamara naman hai vatan ke liye.

न हिन्दू से, ना मुस्लमान से,
ये हिंदुस्तान तो बस बना है,
सरहद पर शहीद हुए जवान से !

na hindu se, na muslman se,
ye hindustaan to bas bana hai,
sarahad par shahid huye javan se.

 

कुछ नशा है तिरंगे की आन का
कुछ नशा है मातृभूमि की शान का
हम लहराएंगे तिरंगे के लिए हर जगह
क्योंकि नशा है यह हिंदुस्तान का!

kuchh nasha hai tirange ki aan ka
 kuchh nasha hai matrbhumi ki shan ka
 ham lahraenge tirange ke liye har jagah
 kyuki nasha hai yah hindustan ka.

 

भारत मां की लाज ना बिकने देंगे
गद्दारों को अपने देश में ना रुकने देंगे
सर कटा देंगे देश की खातिर
 मगर देश के तिरंगे को कभी ना झुकने देंगे!

bharat maa ki laaj na bikane denge
gaddaron ko apne desh me na rukane denge
sar kata denge desh ki khatir
magar desh ke tirange ko kabhi na jhukane denge.

 

Desh Bhakti Shayari Status SMS in hindi

best Desh bhakti shayari in hindi 1Best Desh bhakti shayari in hindi

कुछ बातों के मतलब हैं,
और कुछ मतलब की बातें,
जब से फर्क समझा,
जिंदगी आसान हो गई!

kuchh baato ke matlab hain,
aur kuchh matlab ki baate,
jab se phark samajha,
jindagi aasaan ho gae.

 

मत करो मेरे देश के ‪फ़ौजियों पे ‪शक़
ओ ‪हरामखोरो! तुम जहाँ ‪कदम भी नहीं रख सकते
उन्होंने वहाँ भी तिरँगा लहराया है!

mat karo mere desh ke ‪faujiyon pe ‪shak
o ‪haramakhoro! tum jahan ‪kadam bhi nahi rakh sakate
unhone wha bhi tiranga lahraya hai.

 

जो अब तक ना खौला,
वो खून नही पानी हैं
जो देश के काम ना आये,
 वो बेकार जवानी हैं!

jo ab tak na khaula ,
vo khoon nahee paanee hain
 jo desh ke kaam na aaye,
vo bekaar javani hai.

 

लड़ें वो बीर जवानों की तरह,
ठंडा खून फ़ौलाद हुआ
मरते-मरते भी कईयों को मार गिराए,
तभी तो देश आज़ाद हुआ!

lade vo beer javano ki tarah,
thanda khoon faulad huaa
marte-marte bhi keyo ko maar giraye,
tabhi to desh aazaad hua.

 

 

अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नही!
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नही !!

apani aajadi ko ham haragij mita sakte nahi
sar kata sakte hai lekin sar jhuka sakate nahi.

 

चढ़ गये जो हंसकर सूली,
खाई जिन्होंने सीने पर गोली
हम उनको प्रणाम करते हैं
जो मिट गये देश पर,
हम सब उनको सलाम करते हैं!

chadh gaye jo hansakar sooli,
khae jinhone sine par goli
ham unko pranam karte hain,
jo mit gaye desh par
ham sab unako salam karate hain.

 

लिपट कर बदन,
कई तिरंगे में आज भी आते हैं
यूँ ही नहीं दोस्तों हम ये पर्व मनाते हैं!

lipat kar badan,
kae tirange mein aaj bhi aate hain
yoon hi nahi dosto ham ye parv manate hain.

 

Best Desh bhakti shayari in hindi 2021

 

मेरे जज़्बातों से इस कदर वाकिफ है
 मेरी कलम मैं “इश्क़” भी लिखना चाहुँ
 तो “इन्कलाब” लिखा जाता है!

mere jazbaaton se es kadar vaakiph hai
meri kalam main “ishq” bhi likhna chahu
to “inkalab” likha jaata hai.

 

मेरे मुल्क की हिफाज़त ही मेरा फ़र्ज है
और मेरा मुल्क ही मेरी जान है,
इस पर कुर्बान है मेरा सब कुछ,
नही, इससे बढ़कर मुझको अपनी जान है!

mere mulk ki hiphazat hi mera farj hai
aur mera mulk hi meri jaan hai,
is par kurban hai mera sab kuchh,
nahi, isse badhakar mujhko apani jaan hai.

 

सरफ़रोशी की तमन्ना
अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है!

sarafaroshi ki tamanna
 ab hamare dil mein hai
dekhana hai zor kitana baazoo-e-qaatil me hai.

 

दे सलामी इस तिरंगे को
जिस से तेरी शान हैं
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका
जब तक दिल में जान हैं!

de salami is tirange ko
jis se teri shaan hain
sar hamesha ooncha rakhana isaka
 jab tak dil me jaan hain.

 

तैरना है तो समंदर में तैरो
नालों में क्या रखा हैं
प्यार करना है तो देश से करो
औरों में क्या रखा हैं!

tairna hai to samandar me tairo
naalon mein kya rakha hain
pyaar karana hai to desh se
karo auron mein kya rakha hain.

 

सीने में जूनून और आँखों में
देशभक्ति की चमक रखता हूँ !
दुश्मन की सांसे थम जायें,
आवाज में इतनी धमक रखता हूँ !!

seene mein junun aur aankhon mein
deshabhakti ki chamak rakhata hoon
dushman ki saanse tham jaayen,
aavaaj me itani dhamak rakhata hoon.

 

आप इस देश भक्ति शायरी (Best Desh bhakti shayari in hindi) को अपने Social media पर देश भक्ति कोट्स और देश भक्ति स्टेटस के रूप में उपयोग कर सकते हैं!

 

Leave a Reply

close