advertisement

सफलता चाहिए तो इन 8 चीजों का कर दें त्याग | Chanakya Niti for Success in Life in hindi

 Chanakya Niti for Success in Life in hindi

Chanakya Niti for Success in Life in hindi: आज के समय में हर कोई सफलता पाना चाहता है। कठिन परिश्रम के बावजूद भी कई बार लोग सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं। आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में सफलता पाने का मूल मंत्र बताया है। चाणक्य कहते हैं कि जीवन में सफल होने के लिए हर व्यक्ति को कुछ बातों का पालन करना चाहिए। जानिए सफलता पाने के मूल मंत्र-

Chanakya Niti for Success in Life in hindi
सफलता चाहिए तो इन 8 चीजों का कर दें त्याग! 

1. आलस (Laziness)

आचार्य चाणक्य के अनुसार, आलस किसी रोग से कम नहीं है। जीवन में सफलता पाने के लिए हर व्यक्ति को आलस से दूर रहना चाहिए। इसलिए अपने लक्ष्य को पाने के लिए आलस का त्याग करना चाहिए।

 

2. क्रोध (Get angry)

चाणक्य कहते हैं कि क्रोध मनुष्य का सर्वनाश कर देता है। क्रोधी व्यक्ति जीवन में कभी सफलता हासिल नहीं कर पाता है। नीति शास्त्र के अनुसार, क्रोध से व्यक्ति की सोचने-समझने की शक्ति नष्ट हो जाती हैं। ऐसे में सफलता हासिल करने के लिए व्यक्ति को क्रोध पर काबू रखना चाहिए।

 

3. गुरु का अपमान
(Insulting the master)

लक्ष्य पाने के लिए जरूरी है कि कभी गुरु का अपमान नहीं करना चाहिए। गुरु का अपमान करने वाला व्यक्ति कभी सफलता हासिल नहीं कर पाता है। चाणक्य के अनुसार, पुस्तकों को पढ़ने से सिर्फ ज्ञान हासिल नहीं होता है। विद्या गुरु के सानिध्य से ही प्राप्त होती है। इसलिए गुरु का अपमान कभी नहीं करना चाहिए।

 

4. समय की बरबादी ना करें
(Don’t waste time)

आचार्य कहते हैं समय सबसे बड़ा धन हैं। जो व्‍यक्ति समय के साथ नहीं चला वो जिंदगी के जंग में पीछे रह जाएगा। यदि आप सफल होना चाहते हैं तो समय को बर्वाद करना बंद कर दें। समय के साथ चले और हमेशा समय का सदउपयोग करें। समय का महत्व | Importance of time management in hindi

 

5. अतिनिंद्रा का त्याग करें
(Give up more sleep)

चाणक्य कहते हैं कि एक दिन में 8 घंटे की नींद पर्याप्त होती है। नीति शास्त्र के अनुसार, अतिनिद्रा की स्थिति लक्ष्य प्राप्ति में बाधा बनती है। इसलिए लक्ष्य प्राप्ति के लिए अतिनिद्रा का त्याग करना चाहिए।

 

6. लालच (Greed)

लालच लक्ष्य प्राप्ति के रास्ते में बड़ा रोड़ा है। लालच लक्ष्य प्राप्ति में बाधा पैदा कर सकता है। ऐसे में किसी लालच वश किसी कार्य को नहीं करना चाहिए। ज्‍यादा लालच आपको परेसानी में डाल सकता हैं। इसलिए आप चाहते हैं कि आप सफल हो तो अपने धंधा में किसी प्रकार का लालच करना बंद कर दे।

 

7. अत्‍यधिक मनोरंजन का त्याग करें
(Don’t too much Entertainment)

चाणक्य के अनुसार, लक्ष्य को पाने के लिए मनोरंजन का त्याग कर देना चाहिए। आर्चाय कहते हैं आप काम को किये बगैर मनोरंजन में नहीं लग जाना चाहिए। ये मनोरंजन आपको लक्ष्‍य ये दुर भगाती हैं। इसलिए सबसे पहले अपने काम को प्राथमिकता दे, जब आपका काम हो जाए तो उसके बाद आप थारे मनोरंजन कर सकते हैं।

 

8. माता-पिता का अपमान ना करें
(Don’t insult parents)

चाणक्य कहते हैं कि माता-पिता का भूलकर भी अपमान नहीं करना चाहिए। माता-पिता की उपाधि भगवान से भी उच्च है। ऐसे में माता-पिता का अपमान नहीं करना चाहिए। माता-पिता का सम्‍मान आपको रंक से राजा बना सकता हैं, इसलिए माता-पिता का अपमान ना करें।

दोस्‍तों! ये लेख  Chanakya Niti for Success in Life in hindi  आपको कैसा लगा? यदि यह लेख Chanakya Niti for Success in Life in hindi आपको अच्‍छा लगा तो आप इस हिंदी लेख को Social media Share कर सकते हैं। आपकी एक Share किसी की Life बदल सकती हैं।

इसके अतिरिक्‍त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें Email भी कर सकते हैं। आप हमारे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते हैं।

ये भी पढ़ें:-  



सफलता के लिए पता होना चाहिए ये 7 बातें 

किसी भी इंसान को परखने के लिए ये हैं 4 तरीके 

जानिए अपनी शादी को लेकर जया किशोरी जी क्या सोचती हैं

चाणक्य कहते हैं यदि सफलता चाहिए तो इस हद तक बुड़े बनाें

बनना चाहते हैं अमीर और घर में नहीं टिकता है धन तो जान लीजिए ये 6 जरूरी बातें

Leave a Reply

close