Heart Touching Story of Father and Daughter in hindi

Emotional Heart Touching Story of Father and Daughter

दिल को छु देने वाला, बाप बेटी का संवाद आपको जरुर पसंद आयेगी

ये कहानी एक बुढ़े बाप और बेटी की हैं। कुछ गलतफैमी के काारण बच्‍चे अपने माँ-बाप को गलत समझ लेते हैं। माँ-बाप कभी अपने बच्‍चे का बुड़ा नहीं चाहते हैं। बस उन्‍हें समझने कि जरूरत हैं।

ये Heart Touching Story of Father and Daughter आपके दिल को छु जाएगी इसके लिए लेख को पुरा पढ़े!

आज अंजली Love Marriage करके अपने पापा के पास आई और अपने पापा से कहने लगी, पापाा मैंने अपनी पसंद के लड़के से शादी कर ली है।

Heart Touching Story of Father and Daughter2Heart Touching Story of Father and Daughter

उसके पापा बहुत गुस्‍सें में थे पर वो बहुत सुलझे हुए शख्‍स थे। उसने बस अपनी बेटी से इतना ही कहा, मेरे घर से निकल जाओ।

बेटी ने कहा अभी इनके पास कोई काम नहीं हैं। हमे रहने दीजिए हम बाद में चले जायेंगे पर उसके पापा ने एक नहीं सुनी और उसे घर से बाहर कर दिया।

कुछ साल बीत गए। अब अंजली के पापा नहीं रहे और दुर्भाग्‍यवश जिस लड़के से अंजली ने शादी की, वो भी उसे धोखा देकर भाग गया।

अंजली की एक लड़की और एक लड़का हुआ था। अंजली खुद का एक Restaurant चला रही थी, जिससे उसका जीवन का यापन हो रहा था। अंजली को जब ये खबर हुई उसके पापा नहीं रहें।

अंजली ने मन में ही सोचा अच्‍छा हुआ। मुझे घर से निकाल दिया था। दर-दर की ठोकरें खाने के लिए छोड़ दिया था। मेरे पति के छोड़ जाने के बाद भी मुझे घर नहीं बुलाया।

ये भी पढ़े:- Poem on Father in Hindi – पिता पर कविता

मैं तो नहीं जाऊँगी उनकी अंतिम यात्रा में, पर उसके चाचा जी ने कहा- अंजली तुम हो आओ! जाने वाला शख्‍स तो चला गया।

अब उनसे दुश्‍मनी कैसी? अंजली ने पहले हाँ – ना किया। फिर सोचा चलो हो आती हूँ। देखूं तो जिन्‍होंने मुझे ठुकराया वो मरने के बाद कैसे सुकून पाते हैं?

अंजली जब अपने पापा के घर आई तो सब उनकी अंतिम यात्रा की तैयारी कर रहे थे। पर अंजली को अपने पापा के मरने पर कोई दु:ख नहीं था।

वो तो बस अपने चाचा जी के कहने पर आई थी। अब अंजली के पापा की अंतिम यात्रा शुरू हुई पर अंजली दूर खड़ी हुई थी।

जैसे-तैसे सब कार्यक्रम निपट गए। आज अंजली के पापा की 13वी थी। उसके चाचा जी आए और अंजली के हाथों में एक खत देते हुए उन्‍होंने अंजली से कहा:- ये तुम्‍हारे पापा ने तुम्‍हे दिया है। हो सके तो इसे एक बार जरुर पढ़ लेना।

ये भी पढ़े:- पापा के सपने – Real Life Inspirational Story

रात हो चुकी थी। सारे मेहमान जा चुके थे।

अंजली ने वो खत निकाला और पढ़ने लगी। उसमे सबसे पहले लिखा थ।

मेरी प्‍यारी बेटी,

मुझे मालूम है तुम मुझसे नाराज हो, पर अपने पापा को माफ कर देना। मैं जानता हूँ, तुम्‍हें मैंने घर से निकाला था। तुम्‍हारे पास रहने की जगह नहीं थी।

तुम दर-दर ठोकरें खा रही थी और मैं भी उदास था। तुम्‍हें कैसे बताऊँ? याद है तुम्‍हें जब तुम 5 साल की थी तब तुम्‍हारी माँ हमें छोड़ के चली गई थी।

तब तुम कितना रोती थी, डरती थी। मेरे बिना सोती नहीं थी। रातों को उठकर रोती थी। तब मैं भी सारी रात तुम्‍हारे साथ जगता था।

Heart Touching Story of Father and DaughterHeart Touching Story of Father and Daughter

तुम जब स्‍कूल जाने से डरती थी। तब मैं भी सारा वक्‍त तुम्‍हारे स्‍कूल की खिड़की पर खड़ा होता था और जैसे ही तुम स्‍कूल से बाहर आती थी। तुम्‍हें सीने से लगा लेता था।

वो कच्‍चा- पक्‍का खाना याद है? जो तुम्‍हें पसंद नहीं आता था। मैं उसे फेंक कर फिर से तुम्‍हारे लिए नया खाना बनाता था कि तुम भूखी ना रहो।

ये भी पढ़े:- Fathers Day Status and Quotes in Hindi

याद है तुम्‍हे जब तुम्‍हे भुखार आया था? तो मैं सारा दिन तुम्‍हारे पास बैठा रहता था। अंदर ही अंदर रोता था। पर तुम्‍हे हसाता था कि तुम न रो वरना मैं रो पड़ता था।

वो पहली बार हाई स्‍कूल की परीक्षा, तुम रातभर पढ़ती थी और मैं सारी रात तुम्‍हें चाय बनाकर देता था।

याद है तुम्‍हें वो तुम्‍हारी पहली जीन्‍स, वो छोटे कपड़े, वो गाड़ी, सारी कॉलोनी एक तरफ थी कि यह सब नहीं चलेगा। लड़की छोटे कपड़े नहीं पहनेगी। जबकि मैं तुम्‍हारे साथ खड़ा था। किसी को तुम्‍हारी खुशी में बाधा बनने नहीं दिया।

Heart Touching Story of Father and Daughter 1Heart Touching Story of Father and Daughter

तुम्‍हारा वो रातों को देर से आना। कभी-कभी शराब पीना, डिस्‍को जाना, लड़को के साथ घूमना। इन सब बातों को कभी मैंने गौर नहीं किया क्‍योंकि तुम जिस उम्र में थी, उस उम्र में ये सब थोड़ा बहुत होता हैं।

पर एक दिन तुम एक ऐसे लड़के से शादी कर आई। वो भी उस लड़के से जिसके बारे में तुम्‍हे कुछ भी पता नहीं था।

तुम्‍हारा पापा हूँ! मैंने उस लड़के के बारे में सब पता किया। उसने ना जाने वासना और पैसों के लिए कितनी लड़कियों को धोखा दिया था। तुम तो उस वक्‍त प्रेम में अंधी थी। तुमने एक बार भी मुझसे नहीं पुछा और सीधे शादी करके आ गई।

मेरे कितने अरमान थे तुम्‍हे डोली में बैठाऊँ, चाँद- सितारों की तरह तुम्‍हे सजाऊँ। ऐसी धूम-धाम से शादी करुँ कि लोग बोल पड़े, वो देखो शर्मा जी जिन्‍होंने अपनी बच्‍ची को इतने नाजों से अकेले पाला हैं। पर तुमने मेरे सारे ख्‍वाब तोड़ दिए।

खैर इन सब बातों का कोई मतलब नहीं हैं। मैंने तो तुम्‍हारे लिए खत इसीलिए छोड़ा है कि कुछ बात कह सकूँ।

मेरी बेटी, अलमारी में तुम्‍हारी माँ के गहने और मैंने जो तुम्‍हारी शादी के लिए गहने खरीदे थे, वो सब रखें हैं। 2 से 3 घर और कुछ जमीनें हैं। मैंने सब तुम्‍हारे और तुम्‍हारे बच्‍चों के नाम कर दिया हैं।

कुछ पैसे बैंक में है जो तुम बैंक जाकर उसे निकाल लेना और आखिरी में बस इतना ही कहूँगा:- काश तुमने मुझे समझा होता। मैं तुम्‍हारे दुश्‍मन नहीं था। तुम्‍हारा पापा था, वो पापा जिसने तुम्‍हारी माँ के मरने के बाद भी दुसरी शादी नहीं की।

लोगों के ताने सुने, गालियाँ सुनी, न जाने कितने रिश्‍ते ठुकराए। पर तुम्‍हे दुसरी माँ से कष्‍ट न हो इसलिए खुद की ख्‍वाइशें मारी दी।

ये भी पढ़े:- 

Poem on Father in Hindi – पिता पर कविता

पापा के सपने – Real Life Inspirational Story

अंत में बस इतना ही कहूँगा मेरी बेटी! जिस दिन तुम शादी के जोड़े में घर आई थी न, तुम्‍हारा बाप पहली बार टूटा था

तुम्‍हारी माँ के मरने के वक्‍त भी उतना नहीं रोया जितना उस वक्‍त और उस दिन से हर दिन रोया। इ‍सीलिए नहीं की समाज, जात, परिवार, रिश्‍तेदार क्‍या कहेंगे। इसलिए वो जो मेरी नन्‍ही सी बेटी सु-सु तक करने के लिए सारी रात मुझे उठाती थी।

जिसने शादी का इतना बड़ा फैसला लिया। पर मुझे एक बार भी बताना सही नहीं समझा।

बेटी अब तो तुम भी माँ हो, औलाद का दर्द, खुशी सब क्‍या होती हैं? वो जब दिल तोड़ते हैं तो कैसा लगता है। तुम अब महसूस कर सकती हो लेकिन मैं इश्‍वर से प्रार्थना करूँगा तुम्‍हे कभी भी यह दर्द न देखना पड़े।

एक खराब पिता ही समझ कर मुझे माफ कर देना मेरी बेटी। तुम्‍हारे पापा अच्‍छे नहीं थे जो तुमने उसे इतना बड़ा दर्द दिया।

अब खत यहीं समाप्‍त करता हूँ। हो सके तो माफ कर देना और खत के साथ एक Drawing लगी थी जो खुद कभी अंजली ने बचपन में बनाई थी और उसमें लिखा था। I Love You मेरे पापा!

Heart Touching Story of Father and Daughter3Heart Touching Story of Father and Daughter

ये भी पढ़े:- Poem on Father in Hindi – पिता पर कविता

अंजली रो रही थी, इतने में ही उसके चाचा जी आ गए। अंजली ने उन्‍हें रोते-रोते सब बताया।

और एक बात उसके चाचा जी ने बताई। उसके चाचा जी ने कहा:- अंजली वो जो तुम्‍हें रेस्‍टोरेंट खोलने और घर खरीदने के पैसे मैंने नहीं दिये थे। वो पैसे तुम्‍हारे पिता जी ने ही मुझसे दिलवाए थे।

क्‍योंकि औलाद चाहे कितनी भी बुरी क्‍यों न हो। माँ-बाप कभी बुरे नहीं होते। औलाद चाहे माँ-बाप को छोड़ दे। माँ-बाप मरने के बाद भी बच्‍चों को दुआ देते हैं।

दोस्‍तों अंजली के पापा को सुकून मिलेगा या नहीं, मुझे नहीं पता पर उस खत को पढ़ने के बाद शायद सारी जिंदगी अंजली को सुकून नहीं मिलेगा।

अंत में दोस्‍तों मैं इतना ही कहूँगा, Love Marriage करना कोई गलत बात नहीं हैं।

यदि इसमें आप अपने माता-पिता को शामिल कर लें तो सदैव अच्‍छा रहेगा क्‍योंकि जब पत्‍थर से पानी निकल जाता है, वो तो माँ बाप है न। कब तक नहीं मानेंगे।

दोस्‍तों हर बाप की एक इच्‍छा होती हैं, अपनी बेटी को अपने हाथों से डोली में विदा करने की। हो सके तो उसे ये सपना मत रहने दीजिए और सदैव अपने माता-पिता का आदर करें।

Heart Touching Story of Father and Daughter

Recommend to Read:-

  1. Poem on Father in Hindi – पिता पर कविता
  2. पापा के सपने – Real Life Inspirational Story
  3. Top 50 गर्ल स्टेटस – Attitude Status in Hindi For Girl
  4. शाहरुख खान – Real Life Inspirational Story in Hindi for Success
  5. Attitude Shayari in hindi | Best Attitude Quotes Image
  6. हमेशा खुश रहने के 5 Secrets How to be Happy

दोस्‍तों ये Heart Touching Story of Father and Daughter कैसी लगी,आशा करता हूँ आपको अच्‍छी लगी होगी। आप अपना सुझाव हमें COMMENT BOX में देना ना भुले। यदि आपके पास भी कुछ अच्‍छी Story है तो हमें Mail करें। मैं आपके पोस्‍ट को अपके नाम के साथ अपने Blog पे पोस्‍ट करुँगा। इस लेख को अपने परिवार और दोस्‍तों के साथ Share जरुर करें।

Leave a Reply

close