advertisement

अपने मन को Control कैसे करें | How to Control mind in Hindi

How to Control mind in Hindi | अपने मन को Control कैसे करें?

How to Control mind in HindiHow to Control mind in Hindi

आजकल लगभग 90% लोग मन पर कंट्रोल नहीं कर पाते।

इसका सबसे बड़ी वजह यह है कि वह जो सोचते हैं, वैसा करने में वह नाकाम हो जाते हैं लेकिन आज मैं आपको एक ऐसे मेथड के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसे जानकर आप अपने मन को कंट्रोल कर पाएगे और अपने मन से जैसा चाहेंगे वैसा काम करवा पाएगे।

इंसानों का दिमाग क्या क्या कर सकता है? अभी शायद आपको यह बात पता नहीं है। आप वो हर चीज पा सकते हैं जो आप सोच सकते हैं।

How to Control mind in Hindi 2

How to Control mind in Hindi

दोस्‍तों यदि आप Student हैं तो आपको अच्छे से पता कि अधिक T.V  देखना आपकी स्टडीज को नुकसान दे रहा है या आप Job worker, Business man हैं तो आपको T.V देखना आपके लिए समय कि बर्वादी हैं लेकिन आप फिर भी T.V  हर रोज देखते हैं।

आपके शरीर का वजन जरूरत से अधिक है आप फिर भी वो खाना खाते हैं जिससे आपका वजन और बड़े तो सच मानिए आपका mind या आपका मन आपके बस में नहीं है

आप अपना लक्ष्य तभी हासिल कर सकते हैं। जब आपका मन आपके वश में हो और अगर आप, अपने मन के वश में है तो आप अपने लक्ष्य को तो भूल ही जाए।

How to Control mind 5How to Control mind in Hindi

कई लोग कहते हैं मेरा जो दिल कहता है, मैं वही करता हूँ, पर यह गलत है। आप वो कीजिए जो आपको करना चाहिए। वो मत कीजिए जो आपका मन करता है पर इस मन को वश में करना भी कठिन है?

 श्रीमद्भागवत गीता में स्वयं भगवान श्रीकृष्ण ने मन को वश में करने के अचूक उपाय बताए हैं (How to Control mind):-

दोस्‍तों इस Article में उनके बारे में डिटेल में जानेंगे। यकीन मानिए आप इन तरीकों से अपने मन को अपना गुलाम बना सकते हैं। उतना सरल नहीं होगा पर नामुमकिन तो बिल्कुल भी नहीं है तो चलिए शुरू करते हैं।

हमारा मन एक बेलगाम घोड़े की तरह है:-

इस पर आपको एक किस्सा सुनाता हूँ ताकि आपको अच्‍छे से समझ में आयें।

एक बार एक ठग बाबा था। यह बाबा बड़ी-बड़ी फेंकता था। इस ठग बाबा ने एक बहुत ही अच्छा धंधा चलाया हुआ था। वह बड़ी-बड़ी बातें करके लोगों को तेल बेचा करता था।

अब जितने भी लोगों के सर पर बाल नहीं होते थे, वह इसकी बातों में आ जाते थे। ये बाबा तेल बेचते समय सिर्फ एक ही बात कहता। इस तेल को एक बार लगाने से ही बाल आ जाएंगे और यह बाल ऊपरी शक्तियां तुम्हारे सिर पर लेकर आएंगी।

लेकिन ध्यान एक बात का रहे, जब तेल को लगाओ तो भगवान को याद नहीं करना है और अगर तेल लगाते समय तुम्हारे मन में परमात्मा का चित्र आ जाता है तो तुम्‍हें दोबारा आकर फिर से ये तेल लेना पड़ेगा और यकीन मानिए जी कोई नास्तिक व्यक्ति भी तेल लेकर जाता।

वह जब तेल लगाने बैठता तभी उसे परमात्मा याद आ जाते और लोग हर रोज इस झूठे बाबा से तेल लेने आते हैं।

असल में हमारा माइंड या मन कुछ इसी तरह से काम करता है। आप अपने मन को समझाइए कि ये मत करना तो उसका ध्यान वही चला जाएगा।

जैसे ही आप अपने मन को इंस्ट्रक्शंस देते हैं आप मोटे हो रहे हैं  पर कल से मीठा नहीं खाएगें। बस तब से हमारे मन में मीठा ही घूमता रहेगा।

श्रीमद भगवत गीता में अर्जुन पूछते हैं,  हे कृष्ण!  यह मन चंचल है, बलवान है और हठी भी बहुत है और इस मन को वश में करना,  वायु को वश में करने से भी मुश्किल है?

 तो भगवान श्रीकृष्ण मन को वश में करने की तीन टेक्निक्स बताते हैं:-

भगवान श्रीकृष्ण के द्वारा मन को वश में करने के तीन उपाय
(3 Way to control your mind)

1st Technique

पहली टेक्निक हैं अभ्यास(Practice).

How to Control mind 4How to Control mind in hindi

इसे एक कहानी से समझते हैं। एक छोटे गांव में एक नाई था। पूरे गांव में वो केवल अकेला ही नाई था। उसकी दुकान खूब चलती थी। उसके दो पुत्र थे। उसका बड़ा बेटा 12 सालों से उसकी दुकान में लोगों के बाल काटने में उसकी मदद कर रहा था।

छोटे पुत्र को अभी एक महीना ही हुआ था कि उसने अपने पिता की दुकान पर जाना शुरु किया।

कुछ ही दिनों बाद नाई की मृत्यु हो गई। बड़े लड़के को बहुत ही अनुभव था मगर पिता की मृत्यु के बाद वह गलत संगत में पड़ गया और नशे करनी शुरू कर दी है।

वो अपने छोटे भाई से झगड़ा भी रोज करता था। 1 दिन छोटे भाई को उसने बहुत बुरा भला कहा।

फिर सभी गांव वालों ने मिलकर पंचायत बुलाई जिसमें, यह फैसला लिया गया कि दुकान के दो हिस्से कर दिए जाएंगे और दोनों लड़के एक-एक दुकान को संभाल लेंगे। दोनों भाई इस बात को मान गए।

बड़े भाई को तो अनुभव था। उसकी दुकान खूब चलती थी पर छोटा करता भी तो क्या करता। एक महीने के अनुभव से, वो बाल इतने अच्छे काट ही नहीं पाता था। नतीजा ये हुआ कि छोटे भाई के पास कोई जाता ही नहीं था।

बड़े तो काम चलता ही था तो उसके पास काफी पैसे आ गए। अब पैसों को नशे में उड़ने लगा। पहले कि केवल रात को नशा करता था। अब सुबह भी करने लगा।

उधर जो छोटा भाई था, उसके पास लोगों ने मजबूरन जाना शुरू कर दिया। पर अभ्यास ना होने के कारण शुरू में वह बाल ठीक से काटी नहीं पाता था। उसकी दुकान चल पड़ी और लोगों के बाल काट काटकर, इसका अभ्यास हो गया।

अब उसके दिमाग ने बाल काटना सीख लिया और उधर नसों के निरंतर अभ्यास ने बड़े भाई को बर्वाद कर दिया।

श्रीकृष्ण ने भी मन पर कंट्रोल करने के लिए अभ्यास एक रास्ता बताया है

श्री कृष्ण कहते हैं:- आपको बार-बार प्रयास करना होगा। पहली बार सफल नहीं हो पाएंगे। निरंतर अभ्यास ही सफलता दिलाएगी।

2nd Technique

और दूसरा टेक्निक है:-  वैराग्य मतलब डिटैचमेंट detachment

वैराग्‍य मन कि वो अवस्‍था है जिसमें मन में, किसी के प्रति राग-भाग नहीं होता । इसका अर्थ यह नहीं है कि अब जंगलों में चले जाए। घर-बार छोड़ कर हरिद्वार जाकर बैठ जाने का नाम वैराग्य नहीं है| तो वैराग्य क्या हैसंसार को असार जानना, देह को मिट्टी समझना- वैराग्य है|

How to Control mind 1How to Control mind in Hindi

इसका अर्थ है आप चीजों के प्रति लगाव ना रखें। इसको भी एक उदाहरण द्वारा समझते हैं। मान लीजिए, आप एक स्टूडेंट है और आपको हर रोज टीवी सीरियल देखने की आदत है और यह टीवी सीरियल रात 8:30 बजे आता है।

अब आप इस लत से परेशान है और आप टीवी देखना बंद करना चाहते हैं। इसके लिए आपको टीवी देखने से दूर होना होगा। आप टीवी देखने के समय पर सैर करने जा सकते हैं, प्रार्थना कर सकते हैं या कुछ और कर सकते हैं और अभ्यास से आप उस टीवी सीरियल के प्रति वैराग्य पैदा कर लेंगे और सीरियल पर आप की पकड़ थोड़ी कम हो जाए।

दोस्‍तों वैराग्य तभी संम्‍भव हैं जब इस चीज का ज्ञान हो जाए। लालसा और कामना का कोई अंत नहीं में डूबने का कोई फायदा नहीं। ऐसे ही सोच रख कर आप चीजों से या अपनी कुछ बुरी आदतों से किनारा कर सकते हैं और अपने मन को काबू कर सकते हैं।

3rd Technique

How to Control mind in Hindi का तीसरा टेक्निक:-  मेडिटेशन करना या ध्यान लगाना।

मेडिटेशन को अच्‍छे से समझने के लिए एक इंटरेस्टिंग स्टोरी सुनाऊंगा जिससे आपको पता लगेगा कि मेडिटेशन होता क्या है ?और हम इसे क्यों करते हैं?

अगर आप मेडिटेशन करते हैं और आप उसका कोई भी लाभ नहीं हो रहा तो इसका कारण भी आपको आज पता चल जाएगा।

मेडिटेशन  को हम ध्यान योग भी कहते हैं।

How to Control mindHow to Control mind in Hindi

एक कहानी के माध्‍यम से मेडिटेशन को समझते हैं। एक बार एक कंपटीशन था जिसमें कुछ महिलाओं और पुरुषों ने भाग लिया। इस कंपटीशन में 2100 मील दूर तक चलकर की कोई भी पाबंदी नहीं थी।

 इतना बड़ा रास्ता पैदल चलकर जाना बहुत मुश्किल था और कॉन्पिटिशन देख रहे लोगों ने भी कहना शुरू कर दिया। इतना बड़ा रास्ता चलकर जाना किसी के लिए भी मुमकिन ही नही हैं।

 इस कॉन्पिटिशन को कोई भी नहीं जीतेगा। देख लेना कई नौजवानों ने हार मान ली और कॉन्पिटिशन छोड़कर भाग गए।

जैसे जैसे लोग कदम बढ़ा रहे थे वैसे वैसे रास्ते में लोग कहते जा रहे थे। कंपटीशन कोई नहीं जीत सकता। यह नामुमकिन है। एक तो गर्मी इतनी ऊपर से इतनी बड़ी रेस देख लेना  कई लोग रास्ते में अपने प्राण त्याग देंगे।

कोई कहता मुझे तो तरस आता है उन पर चारे लोगों पर जो इतनी गर्मी में पैदल चल रहे हैं। सच में बहुत से लोग बीच-बीच में गिरते भी गए और कुछ लोग रेश छोड़कर भाग गए, लेकिन एक बूढ़ी महिला थी जो चलती ही जा रही थी, वो रूकने का नाम ही नहीं ले रही थी।

लोग चिल्लाते रहे थे। देख लेना, यह बुजुर्ग महिला अपने प्राण गवा बैठेगी। कोई कहता, इसपर मुझे तरस आता हैं कि कोई मजबूरी होगी जो पैसे के लिए इस उम्र में भी चली जा रही है तो कहीं से आवाज आती है। यह रेस एक षड्यंत्र है। हमारे लोगों की जान लेने का।

लेकिन उस महिला के कदम थे  जो रुकते  ही नहीं थे। वो कुछ देर आराम करती, फिर कुछ खाना खाती, पानी पीती और चलना शुरु कर देती और कुछ दिनों के बाद वह महिला अपनी मंजिल पर पहुंच ही गई।

इनाम लेते वक्‍त उस महिला से जब बात हुई तो पता लगा कि वो तो बहरी है वो कुछ सुन ही नहीं सकती थी।

इसलिए उसे आसपास के लोगों की आवाज सुनाई नहीं दे रही थी और यही कारण था। उस बूढ़ी महिला की जीत का। लोगों की नेगेटिव बातें उसमें तक पहुंची थी। जो जवान लड़के नहीं कर पाए। वो इस बहरी महिला ने कर दिखाया क्योंकि इस महिला को लोगों की नेगेटिव बातें सुनाई ही नहीं दे रही थी।

वह केवल अपने मन की आवाज ही सुन सकती थी।

बस मेडिटेशन का भी यही काम है। मेडिटेशन हमें अपनी बाहरी दुनिया से अलग करता है ताकि हम अपने अंदर बैठे परमात्मा या कह लीजिए आत्मा क्योंकि परमात्मा का ही अंश है से हमारा मेल करवा सके।

इसलिए हम सभी में परमात्मा का वास है। आत्मा के रूप में जिसे भगवान श्री कृष्ण ने कभी ना मरने वाला बताया है।

भगवान श्री कृष्ण कहते हैं:-  ध्यान अकेले में ही लगाएं और श्री कृष्ण ने गीता में ध्यान लगाने की विधि बताते हुए कहा है  धर ,सर और गर्दन को सीधा रखकर स्थिर बैठे, नाक के अगले भाग पर दृष्टि रखे।

How to Control mindHow to Control mind in Hindi

इधर उधर ना देखें, अपने विचारों पर नियंत्रण रखें और बिना डरे परमात्मा पर मन लगाए। इसकी परवाह मत करें। लोग क्या कहेंगे, मन को शांत करने का प्रयास करें या पर ध्यान देने वाली बात यह है कि आपने इधर-उधर नहीं देखना है। केवल नाक के अगले भाग परी आपकी दृष्टि होगी और आपको ब्रह्मचर्य का पालन भी करना होगा।

यह ब्रह्मचार्य का मतलब अविवाहित होना नहीं है। इसका अर्थ है संयम रखें अपने व्यवहार और अपने विचार पर। किसी भी प्रकार के काम। के विचार और व्यवहार से दूरी बनाई रखनी होगी।

आप धीरे धीरे ध्‍यान लगाना शुरू करें, शुरूआती के दिनों में आपका ध्यान बहुत ही भटकेगा, मन शांत नहीं रहेगा, मन में उलटे सीधे बीचार आने लगगें लेकिन आप लगातार अभ्‍यास करते रहे तो आप एक दिन मन पर कंट्रोल करना सीख जाएगें।

Conclusion of How to Control mind in Hindi:

मन पर कंट्रोल करने के लिए भगवान श्री कृष्‍ण ने तीन टेकनीक बताए हैं:-

1 अभ्‍यास करें ( बार बार करें, कोई भी चीजो को आदत में लाने के लिए 21 दिन लगते हैं इसलिए कम से कम आप 21 दिन कोशिश करें फिर वो काम अपने आप होने लगेगा। )

2 वैराग्य बनें (मतलब ये कि अपने लक्ष्‍य में आने वाले रूकावट को अपने आप से दुर करें, Problem पर ध्‍यान ना दे कर solution पर ध्‍यान करें)

3 मेडिटेशन करें

Also Recommend to Read

  1. Best Hindi Inspirational Story | खुद पर विश्वास रखें
  2. 7 Best Rules of Money | Financial Freedom बनने के 7 नियम
  3. बुड़े बनों चाणक्य नीति | Chanakya Niti Hindi Thought and Story
  4. What is Entrepreneurship meaning in Hindi | उद्यमीता क्‍या हैं?
  5. 25 [Best] Motivational Image Hindi | Hindi Image Quote

दोस्‍तों! आशा हैं ये लेख How to Control mind in Hindi आपको अच्‍छा लगा होगा ! इस Hindi Article को अपने दोस्‍तों के साथ Share करें! 

इसके अतिरिक्‍त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें Email भी कर सकते हैं। आप हमारे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी हैं और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें। हमारी E-mail Id हैं- [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और Photo के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे….धन्‍यवाद!

Leave a Reply

close