एक कोयला कि कहानी | Inspiring hindi Story to Overcome Depression

Inspiring hindi Story to Overcome Depression

Inspiring hindi Story to Overcome DepressionInspiring hindi Story to Overcome Depression

एक कोयला के टुकड़े की कहानी Depression से तो बहार निकालेगी साथ-साथ सोच को भी बदल देगी!

दोस्‍तों कई बार हमारे Life में ऐसा होता है जब हमे लगता हैं कि अब Life खत्‍म हो चुकि हैं, जिंदगी में अब कुछ नहीं रह गया हैं, कोइ भी काम को करने में हिम्‍मत नहीं करता। इस सब के वजह से हम  Depression का शिकार हो जाते हैं।

आज मैं ऐसी एक कहानी ( Inspiring hindi Story to Overcome Depression) बताने वाला हूँ जो आपके सोच के साथ Depression से बाहर निकाल देगी इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़े।

ये कहानी हैं मनीष नाम की लड़के की। Middle class में पैदा हुआ। 12th क्लास तक Top करता जा रहा था। ये कमाल का बच्‍चा था, पढ़ने लिखने में सबसे आगे रहता था, उसके परीवार को लगता था कि जब बच्‍चा बड़ा हो जाएगा तो कुछ कमाल करेगा, हम लोगों की लाइफ बदल देगा सिर्फ और सिर्फ ये लड़का।

ये भी पढ़े:- बेस्ट 5 पढ़ाई में मन लगाने के तरीके

वो लड़का जब 12th क्लास पास करके जब कॉलेज में गया तो उसकी लाइफ बदल गई। उसके आसपास ऐसे दोस्त आ गए जिसने उसे बिगाड़ के रख दिया।

देर रात तक पार्टी चलने लगी, घरवालों से झूठ बोल कर के पैसा मांगने लगा।

घर वालों को सब पता चल गया इसलिए मनीष को समझाने की कोशिश की, लेकिन मनीष ने घरवालों को डाट दिया और बोला आप मुझे ज्ञान मत दीजिए।

मुझे सब कुछ मालूम है और आपकी ज्ञान से बात नहीं बनेगी, आप शांत रहिए, मैं अपनी जिंदगी खुद जी लुंगा। घरवालों ने कुछ नहीं बोला।

एक साल के बाद जब Result आया तो मनीष एक Subject में फेल हो गया।

जब ये फेल होने वाली बात आई, वही ये बात इसके Ego को Heart कर गई। जो लड़का 12th तक Top करता आ रहा था वो College में जाते ही फेल कैसे हो सकता हैं।

ये जो फेल होने वाली बात थी इसके कारन वो Depression में चला गया और खुद को अकेले Room में कैद कर लिया। घरवालों से बात करना बंद कर दिया। दोस्तों के फोन उठाना बंद कर दिया।

यहां तक कि बाहर आना जाना बंद कर दिया। मनीष धीरे-धीरे डिप्रेशन का शिकार हो रहा था। ऐसा लग रहा था कि लाइफ में यहीं पर ही ब्रेक लग जाएगा। सब कुछ खत्म हो जाएगा। डिप्रेशन से बाहर निकलने के 15 उपाय

मनीष जिस School से पढ़ाई करता था, जहां से उसने 12th pass किया था, वहां के प्रिंसिपल को जब ये बात मालूम चली तो उन्होंने मनीष को अपने से मिलने के लिए बुलाया।

मनीष Principle के बुलावा को मना नहीं कर सकता था इसलिए उसे जाना परा। मनीष ने शाम को Principle के घर पर पहूंंचा।

Principle अपने Garden में बैठ कर अंगेठी  पर हाथ सेक रहे थे। सर्दी का मौसम था। मनीष भी सर के पास जा कर बैठ गया। Principle जब मनीष से हाल चाल पुछा तो उसने कोई जबाव नहीं दिया।

10 से 15 मिनट तक दोनों के बीच में बातचीत नहीं हुई।

तो फिर Principle ने सोचा कि क्या अलग किया जाए? उसने क्या किया कि सामने में आग जल रही थी। उस आग की भट्टी मेंं से एक कोयला का टुकड़ा निकालकर, बाहर रख दिये।

Inspiring hindi Story to Overcome DepressionInspiring hindi Story to Overcome Depression

जैसी वह कोयले का टुकड़ा मिट्टी के संपर्क में आया तो वह थोड़ी देर के बाद बुझ गया।

यह सब देख कर के मनीष ने बोला कि सर आपने यह क्या किया जलते हुए कोयला को आपने बुझा दिया।

थोड़ी देर के बाद!

तब मनीष ने कहा सर ये आपने क्या किया। कोयले का टुकड़ा जो भठ्ठी में जल रहा था, वह धधक रहा था। उसे अपने बाहर निकाल दिया। अब वह बहार आकर बुझ गया, आपने उसे बर्बाद कर दिया।

तो प्रिंसिपल ने कहा कि मैंने बर्बाद कहां किया।

कौन सी बड़ी बात है, मैं वापस इसे ठीक कर देते हैं तो वापस उसने कोयले के टुकड़े को उठाया और फिर अंगीठी में डाल दिया और थोड़ी देर के बाद क्या होता है कि जो कोयला का टुकड़ा था, वह फिर से जलने लगा और फिर से गर्मी देने लगा।

जब भी हिम्मत टूटे, तो ये कहानी आपके लिए हैं

प्रिंसिपल ने पूछा बेटा तुम्हें कुछ समझ में आया। क्‍या?

मनीष ने कहा- नहीं!

बेटा मैं तुम्‍हें यही समझाने के लिए यहां बुलाया हैं कि बेटा यह जो कोयले का टुकड़ा है वह तुम हो, तुम जब इस भठ्ठी से बाहर आए।

गलत संगति में गए मतलब मिट्टी में गए और तुम बुझ गये लेकिन वापस आकर के जल सकते हो। लेकिन सर्त ये हैं कि तुम्‍हे भठ्ठी में वापस आना होगा।

अपनी लाइफ स्टाइल बदलनी  होगी, अपने दोस्त बदलने होंगे। बस इतनी सी बात को समझाने के लिए मैं यहां बुलाना चाहता था। यदि ये सब कर लिया तो तुम फिर से पढ़ाई में अवल्‍ल आ जाओगें। 

Moral of The Story:-

हममें से कई सारे लोग ऐसे हैं जो Depression का शिकार हो रहे हैं सिर्फ और सिर्फ एक घटना की वजह से।

हो सकता है कि फेल हो गए सब कुछ बर्बाद हो गया, इससे आगे कुछ नहीं हो सकता हैं। सब कुछ अच्छा होगा। यह विश्वास रखिए।

दोस्‍तों हमें Inspiring hindi Story to Overcome Depression से सीख लेना चाहिए कि जिंदगी चलते रहने का नाम हैं, रूकना नहीं हैं। Problem का क्‍या हैं वो तो आता ही रहेगा। Actual में समस्‍या हमें मजबूत बनाने आती हैं ना की कमजोर बस हमें डट कर मुकाबला करना होगा।

दोस्तों! ये लेख Inspiring hindi Story to Overcome Depression आपको कैसा लगा? यदि यह Hindi Article आपको अच्छा लगा तो आप इस हिंदी लेख को Share कर सकते हैं उस लोगों को जो छोटी छोटी समस्‍या से घबड़ा जाते हैं और परेशान होकर हिम्‍मत हार जाते हैं। इस कहानी से उसे प्रेरणा मिलेगी खुद को Bounce Back करने में। इस लेख के माध्‍यम से उस सब का भला कर सकते हैं।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें Email भी कर सकते हैं। हमसे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी हैं और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें। हमारी E-mail Id हैं- [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और Photo के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे….धन्यवाद!

Also Recommend to Read:-



डिप्रेशन से बाहर निकलने के 15 उपाय

बुरे समय में घबड़ाये नहीं | Story on Success

जानिए क्‍या हैं हमारे जिवन में समय का महत्व

ये 8 तरह के लोग, दुसरे के दुखी पर कभी दुख नहीं होते

सफलता चाहिए तो इन 8 चीजों का कर दें त्याग

Top 50 Best Thoughts of the Day in Hindi Image | सुविचार

 

2 Comments

  1. sahil suman August 6, 2020

Leave a Reply

advertisement
close