advertisement

Best Inspiring Story in Hindi | साेच बदल देगी

Life Changing Inspiring Story in hindi
जो होता हैं अच्‍छे के लिए होता हैं!

Inspiring Story in HindiInspiring Story in Hindi

बहुत बार हमारे Life में हमारे साथ ऐसी मुश्किले आती हैं और हमे समझ में ही नहीं आता हैं कि ऐसा मेरे साथ ही क्‍यों हो रहा हैं।

दोस्‍तो आज मैं एक ऐसी Inspiring Story in Hindi में बताने वाला हूँ जिसने मेरे सोच के नजरीये में बहुत बदलाव लाया हैं। तो मैने सोचा ये Inspiring Story मैं आपने पाठको के साथ Share करु, जिससे आपके Life में भी कुछ सीखने को मिले और आपके सोच में बहुत बड़ा बदलाव आये।

एक बार एक मंदिर में एक सफाई करने वाला सेवक भगवान जी के मुर्ती के तरफ देखता हैं और बोलता हैं:-  भगवान जी! आप एक ही जगह पर कई सालों से खड़े खड़े बोर नहीं होते क्‍या?

मेरे पास एक Idea हैं क्‍योंकि न एक दिन के लिए रूप Exchange कर लें। आप मेरे रूप में एक दिन मेरी जिंदगी जी कर देखों और मैं आपके रूप में एक दिन यहां पर खड़े हो जाता हूँ। आप भी एक दिन का छुट्टी लो, एक दिन कही घुम कर आओ।

Inspiring Story in hindiInspiring Story in Hindi

भगवान जी जबाब देते हैं कि यहां खड़ा होना इतना आसान नहीं हैं तु अपना काम कर और मुझे अपना काम करने दे। यहां खड़ा रहना बहुत ही मुश्किल हैं।

तभी सेवक बोला:- भगवान जी आप जैसा बोलोगे मैं वैसा ही खड़ा रहुँगा But एक बार हमे खड़ा होने दो और आप एक दिन मेरी जिंदगी जी करके देखों।

तो भगवान जी कहते हैं मैं तो रूप Exchange कर लुंगा, मैं तो तुम्‍हारा रूप में आ जाऊँगा और तुम मेरे रूप में।

लेकिन मेरा एक नियम याद रखना

तुम यहां मु‍र्ती बन कर खड़े रहोगे। लोग कुछ भी कहे, कुछ भी बोले, लोग तुम्‍हे अपनी तकलिफ सुनाए या तुमसे कुछ भी मांगे तो तुम्‍हें चुप चाप मुर्ती बन कर खड़े रहना हैं। कुछ भी नहीं बोलना हैं और ना कुछ Interfere करना हैं।

 मैंने सबकी Planning करके रखा हैं बस तुमको यहां पर चुपचाप खड़े रहना हैं।

ये भी पढ़ें:-  शाहरुख खान – Real Life Inspirational Story in Hindi for Success

सेवक कहता हैं ठिक हैं भगवान जी हमे मंजूर हैं।

सेवक भगवान के जगह पर मुर्ती बन कर मंदिर में खड़ा हो जाता हैं और भगवान सेवक के रूप में एक दिन के छुट्टि पर निकल जाते हैं।

अब ये सेवक जो मुर्ती के रूप में खड़ा हैं और मंदिर में पहला भक्‍त आता हैं जो Business man होता हैं।

ये Business man मुर्ती के सामने माथा टेकता हैं और बोलता हैं, हे भगवान! मेरी दौलत खुब बढ़ाना, मेरी सानो सौकत को और बढ़ाना। मैं एक नई फैक्‍टरी लगा रहा हूँ उस पर भी अपनी कृपा बनाए रखना भगवान!

ये बोलते हुए मुर्ती के सामने मााथा टेकता हैं और जैसे ही उठ कर जाने लगता हैं तभी उसके जेब से Purse गीर जाता और वो Purse को लेना भुल जाता हैं और फिर वो मंदिर से निकल जाता हैं।

Inspiring Story in hindiInspiring Story in Hindi

ये देख कर मुर्ती के रूप में खड़े सेवक को बहुत ही घबड़ाहट होती हैं कि उसका Purse रह गया। उसका मन करता हैं कि उसको आवज दे दुँ कि तुम्‍हारा Purse रह गया हैं लेकिन उसको याद आ जाता हैं कि भगवान ने कहा था कि तुम्‍हें कुछ नहीं बोलना हैं चुपचाप खड़े रहना हैं मुर्ती बन कर बस जो हो रहा हैं उसे देखते रहना हैं।

तो सेवक बिना कुछ कहे, वही चुपचाप खड़ा रहता हैं। इतने में दुसरा भक्‍त आता हैं जो गरीब रहता हैं। वो भगवान को 1 रूपया चढ़ाता हैं और कहता हैं भगवान! मेरे पास 1 ही रूपया बचा था जो मैं आपको चढ़ा रहा हूँ।

भगवान! मेरे घर में बहुत परेसानी हैं, बहुत गरीबी हैं, मेरे परिवार को दवाई की जरूरत हैं। हे भगवान! मुझ पर रहम कर, कुछ ऐसा कर जिससे हमारी समस्‍या दूर हो सके।

Inspiring Story in hindi 2Inspiring Story in Hindi

ये भी पढ़ें:-  बुरे समय में घबड़ाये नहीं | Story on Success in hindi

ये सब बोलते हुए मुर्ती के सामने माथा टेकता हैं। जैसे ही वो आँखें खालते हुए उठता हैं तभी उसका नजर Purse पर परता हैं जो Business man का गीरा होता हैं।

Purse देख कर वो गरीब भक्‍त बोलता हैं भगवान! तुने ये पैसे दे कर हम पर बहुत रहम किया हैं, ” शुक्र हैं भगवान आपका “और वो Purse ले कर चला जाता हैं वहां से।

ये सब देख कर मुर्ती के रूप में खड़े सेवक को बहुत घबड़ाहट होती हैं कि उस गरीब ने वो Purse चुरा लिया। मैने तो उसे ये Purse नहीं दिया। सेवक को और Problem होती हैं और सोचता हैं काश मैं उसे रोक पाता But उसे फिर से भगवान की बातें याद आती हैं और खुद को बोलने से रोक लेता हैं।

सोचता हैं भगवान के कहे अनुसार मैं बस देख सकता हूँ और कुछ नहीं बोल सकता।

इतने में तीसरा भक्‍त आता हैं जो नौकाचालक रहता हैं। वो भगवान के सामने माथा टेकता हैं और भगवान को बोलता हैं। भगवान! मैं 10 दिनों के लिए अपने जहाज से दुसरे जगह काम के लिए जा रहा हूँ, आप अपनी कृपा हमपर बनाए रखना।

ये भी पढ़ें:- Moral Short Story in Hindi | Inspirational Story

इतने में Business man पुलिस ले कर आ जाता हैं और बोलता हैं। मेरे बाद यही इस मंदिर में आया हैं, यही मेरा Purse चुड़ाया हैं इसे गिरफतार कर लो।

और पुलिस उस नौकाचालक को चोरी के जुर्म में गिरफ्तार कर लेती हैं! अब ये देख कर सेवक सोचता हैं कि अब मेरे से चुप नहीं रहा जायेगा। यदि मेरे जगह भगवान जी भी होते तो इतनी नाइंसाफी नहीं होने देते। अब बहुत हो गया, अब मुझे बोलना ही परेगा।

तो मुर्ती के रूप में खड़ा वो सेवक बोल परता हैं और कहता हैं:- मैं भगवान बोल रहा हूँ, मैने देखा हैं नौकाचालक की कोई गलती नहीं हैं इसलिए इसे छोर दो, इसे tour पर जाना हैं । Business man का Purse उस गरीब ने चुराया हैं, उसे जा कर पकरो।

इस बात पर Police बोलती हैं कि जब भगवान खुद सच्‍चाई बोल रहे हैं  इसलिए Business man को purse दे दिया जाता हैं और इस नौकाचालक को भी छोर दिया जाता हैं।

अब फिर से वो सेवक वापिस से मुर्ती के रूप में खड़ा हो जाता हैं। शाम हो जाती हैं तो भगवान जी वापिस आ जाते हैं और सेवक से कहते है कि कैसा रहा आज का दिन?

तो सेवक कहता हैं भगवान जी! मैं आपको पुरी दिन के बारे में बताता हूँ, आप खुश हो जाओगें क्‍योंकि आज मैंने बड़ी नाइंसाफी होने से रोका हैं वरना बहुत गरबर हो जाती।

सेवक भगवान को तीनो भक्‍तों कि बात बताता हैं कि क्‍या क्‍या हुआ और कैसे उसने गलत चीजो को सही कर दिया।

भगवान पुरी बात सुनने के बाद कहते हैं, तुने कुछ सुधारा नहीं, पुरा काम बिगार दिया हैं। तुझे मैंने बोला था कि कुछ नहीं बोलना, तुझे बोला था बस मुर्ती बन कर खड़े रहना फिर तुमने क्‍यों बोला?

अब सुनो! मेरी Planning जो तुम्‍हारे सोच से बाहर थी।

 पहला भक्‍त जो Business man आया था उसकी सारी कमाई, सारी दौलत चोरी की थी और कुछ पैसे गरीब के घर में चला जाता तो उसका कुछ पाप कम हो जाता।

वो गरीब हर लोगों कि सेवा करता हैं, जितने उसके पास पैसा आता हैं वो लोगों के सेवा में सारा पैसे लगा देता हैं। कुछ Business man का पैसा उस गरीब के पास जाता तो उस गरीब को भी भला हो जाता और उस Business man  को भी कुछ पुण्‍य मिल जाता।

और जो नौकाचालक था, वो जिस तरफ जहाज से जाने वाला हैं उस तरफ बहुत हि तुफान आने वाला हैं, जिसमें वो बचेगा नहीं।

यदि उसे Police पकर कर ले जाती तो वो जेल में सुरक्षित रहता और उसका बीबी, बच्‍चे अनाथ होने से बच जाता और उस Business man को कुछ पुण्‍य भी मिलता और उस गरीब के घर में रोटी भी पहुच जाती। ये थी मेरी तीनो का Planning .

Best 45 Bhai Bahan Status Shayari in Hindi – भाई बहन शायरी

Top 101 Bholenath Status in Hindi 2020: Wishes, Quotes, Shayari

Moral of the Inspiring Story in Hindi

दोस्‍तों ये छोटी सी कहानी हमें बहुत कुछ सीखाती हैं और बताती हैं कि ऐसा ही हमारे Life में बहुत बार होता हैं जब हमारे Life में Problem आती हैं तो हम सोचते हैं इसमे अच्‍छा क्‍या हैं।

हमे लगता हैं हमारे साथ इतना बुड़ा क्‍यों हो रहा हैं क्‍योंकि कही न कही हमारी सोच के उपर हैं भगवान की Planning !

तो आज के बाद  लाइफ में जब भी कोई परेशानी आये, जब भी कोई मु‍सकिल आये तो उदास नहीं होना। इस Story को याद करना, मुस्‍कुराना और समझ जाना Life में जो भी होता हैं अच्‍छे के लिए होता हैं। और कही न कही हमारे फायदे के लिए होता हैं।

Also Recommend to Inspiring Story to Success

इस‍ दुनिया में बहुत से लोग हैं जो किसी न किसी Problem से परेशान हैं। मुझे लगता हैं ऐसे हर ईसान को ये Inspiring Story in Hindi की जरूरत हैं ताकी वो और Strong बन सके। यदि आपको भी ऐसा लगता हैं तो इस Inspiring Story को Whatsapp और  Facebook पर दोस्‍तों को जरूर Share करे ताकी हम लोगो के जीवन में खुशियां ला सके….धन्‍यवाद!

Leave a Reply

close