Real Life Inspirational Stories in Hindi | एक राजा कि कहानी

Real Life Inspirational Stories in Hindi
राजा के 4 रानियों कि कहानी

Real Life Inspirational Stories in HindiReal Life Inspirational Stories in Hindi

एक छोटी सी कहानी एक राजा की जिसके पास में बहुत बड़ा साम्राज्य था। बहुत विशाल सेना थी। कही कोई कमी नहीं थी, लेकिन राजा बूढ़ा हो चला था। राजा की कभी भी मौत हो सकती थी वो बड़ा बीमार रहता था।

इस सब के बीच में राजा ने अपने राज्य के लिए अगले उत्तराधिकारी का चुनाव किया और अगला राजा घोषित कर दिया। उसका जो बड़ा बेटा था उसको राजा घोशित कर दिया गया। समस्‍या ये नहीं थी।

समस्‍या ये थी कि वैध जी ने कहा था कि राजा साहब आपके पास में बहुत कम दिन हैं आप सन्यास ले लीजिए। यह सब छोड़ छाड़ के चले जाइए। जंगलों में तपस्या कीजिए।

आखिरी दिनों को ऊपर वाले की भक्ति में लगाइए। पूरी जिंदगी आपने इस राज्य का ख्याल रखा है। अब अपने बच्चों का ख्याल रखने दिजिए।

पोपुलर लेख आपको पढ़ना चाहिए:- How to Control mind | अपने मन को Control कैसे करें

राजा के सामने समस्या थी। उसकी 4 रानियां थी। राजा चाहता था कि किसी एक के साथ में संन्यास ले लिया जाए।

चौथी रानी

जिससे राजा ने सबसे अंतीम में शादी कि थी। उस रानी से नया नया प्यार हुआ था। उस के कक्ष में पहुंचा। उसके राज महल में पहुंचा। उसके पास बड़ी उम्‍मीद से पहुचा।

राजा ने जा कर कहा- अब मैं तुम्‍हारे साथ सन्‍यास लेना चाहता हूँ। क्या आप मेरे साथ में जंगलों में चलने के लिए तैयार है? रानी ने साफ साफ मना कर दिया और कहा कि आपको जहां जाना है जाइए, मैं यही रहूंगी।

राजा को समझ में नहीं आया कि मेरे मुंह पर बेइज्जती हो गई। राजा ने सोचा मैंने इतना प्यार किया। इतना ख्याल रखा और मुझसे कहा जा रहा है कि आप जाइए, जहाँ जाना हैं लेकिन मै आपके साथ नहीं जाउगी।

तीसरी रानी

राजा अब तीसरी रानी के महल में पहुंचा। यहाँ बड़ी उम्‍मीद से जा रहा था क्‍योंकि यहाँ भी मोहब्बत बाकी थी।

जाकर किस तीसरे रानी से कहा कि आपसे बेइंतहा मोहब्बत करते हैं। बहुत सारा प्यार करते हैं। क्या आप हमारे साथ में जंगलों में चलने के लिए तैयार है।

मैं अपनी जिंदगी के आखिरी दिनों को जंगलों में बिताना चाहते हूँ,  सन्यास लेना चाहते हैं।

Real Life Inspirational Stories in Hindi 3Real Life Inspirational Stories in Hindi

तीसरी रानी ने कहा कि आप क्‍या पागलपन की बातें कर रहे हैं? आपको वहां जाने की क्या जरूरत है? आप यहां पर रह कर के भी अपना जीवन यापन कर सकते हैं। आपकी यहां सारी सुख सुविधाएं हैं।

इतने सारे लोग हैं आपके ख्याल रखने के लिए। यदि आप जंगल में जाएगे तो मैं दुसरी शादी कर लुंगी। मुझे आपके साथ में नहीं जाना।

दूसरी रानी

राजा यहां से भी मायूस हो कर, उदास होकर दूसरी रानी मतलब जो दूसरी शादी की थी, उनके राज महल में पहुंचा।

राजा मन ही मन सोच रहा था कि दुसरी रानी बहुत ही समझदार हैं। वह तो हमारा साथ जरूर देगी और हमारे साथ जंगल जरूर चलेगी क्योंकि वह राज के जितने भी फैसला लेने होते थे, उसमें सही गलत का निर्णय में मेरा साथ देती थी।

थोड़ा प्यार बचा था कि काश, वो एक बार हां कर दे और उसके साथ में अपनी जिंदगी की आखिरी पल बिताना चाहता हूँ। ये सब राजा मन में सोचते हुए दूसरी रानी के रजमहल में जा रहा था।

बड़ी उम्मीद के साथ में उस रानी के राज महल में पहुंचा। उस रानी से वही बात कही जो बाकी रानियों से कहा था कि रानी मैं जंगल में जाना चाहता हूँ, सन्यास लेना चाहता हूँ ।

जिंदगी की आखिरी पल बचे हैं। उन्‍हें बिताना चाहता हूँ । क्या आप मेरे साथ चलने के लिए तैयार है? दूसरी रानी ने कहा कि राजा साहब बड़ा मन था, आपके साथ चलने का लेकिन नहीं चल पाऊंगी। आपके सारे फैसलों में आप का साथ दिया, लेकिन यहां पर आपका साथ नहीं दे पाऊंंगी।

एक काम कर सकती हूँ,  मैं भी आपसे प्यार करती हूँ । जब आप इस दुनिया को छोड़ कर के चले जाएंगे तो आप का अंतिम संस्कार करवा दूंगी। सारे अरेंजमेंट कर दूंगी। आपको परेशान नहीं होना है। आप निश्चिंत होकर जंगल में जाइए।

जंगल में आपको जो करना है, तपस्या करना है कीजिए, सन्यासी बनना है बनीए । आपके जो आखिरी अंतिम संस्कार के कार्य होंगे। बिल्कुल शाही अंदाज में करवा दुंगी। आप इस बात की चिंता मत कीजिएगा।

राजा वहां से भी मायूस हो करके, उदास हो करके लौट रहा था कि अचानक से आवाज आई कि राजा साहब चलिए कहां चलना है मैं आपके साथ में चलने के लिए तैयार हूँ।

राजा की पहली रानी

आप बताइए कितने दिन जंगलों में बिताने हैं? मैं आपके साथ में चलने के लिए तैयार हूँ। राजा ने मुह‍ उठा करके देखा तो उस राज महल के दरवाजे पर एक कमजोर सी स्त्री खड़ी थी, जिसके शरीर पर कोई गहना नहीं था। वो थी राजा की पहली पत्नी।

राजा की पहली रानी जैसे सबसे पहली शादी हुई थी, जिससे बेइंतेहा मोहब्बत एक वक्त में की थी, लेकिन उसके बाद रानीया आती गई।

वो पहली रानी जिस की केयर करने की जरूरत थी जिसका ख्याल रखना था । लेकिन राजा ने कभी ख्‍याल ही नहीं रखा। वो बोल रही थी राजा मैं आपके साथ चलने के लिए तैयार हूँ।

राजा को बुरा लगने लगा। शायद वो जानता था कि पहली रानी ही उसका साथ देगी। बाकी के रानी हम मना कर देंगी। उस पहली रानी के साथ में संन्यास की तरफ चल पड़ा।

Moral of The Story 

यह कहानी (Real Life Inspirational Stories in Hindi) राजा और उसकी चार रानियों की नहीं है। यह कहानी मेरी आपकी, हम सब की हैं।

मैं आपको Real Life Inspirational Stories in Hindi के माध्‍यम से 4 रानियों का मतलब बताना चाहता हूँ।

चौथी रानी यानी कि आपका शरीर

जिसके बारे में आप दिन रात सोचा करते हैं कि कैसे उसको फिट रखा जाए, किस तरीके से शानदार बनाया जाए, गोरा हो जाए। किस तरीके से रंग बदलने वाली चीजों के बारे में हम सोचते हैं। ये रानी आपके साथ नहीं जाने वाला हैं।

तीसरी रानी हैं वह सारी सुख सुविधाएं

जिसके पीछे हम लोग भागते रहते हैं। लैपटॉप, मोबाइल, गाड़ी, घर, बंगले जो हमें चाहिए होती है अपने सुख के लिए अपने फिजिकल सुख के लिए।

Real Life Inspirational Stories in Hindi 2Real Life Inspirational Stories in Hindi

ये भी पढ़ें:- 7 Best Rules of Money | Financial Freedom बनने के 7 नियम

यह तीसरी रानी जिसके पीछे हमने पूरी जिंदगी बिता दी, अगर आपको कहानी याद होगी, तीसरी रानी ने कहा था कि मैं दोबारा से शादी करूंगी। यानी कि यह जो चीजें हैं, आप चले जाएंगे तो किसी और की हो जाएगी।

आपके पीछे, आपके साथ नहीं जाने वाली हैं ये सब चीजें। ये बात सबको सबको मालूम है, लेकिन फिर भी हम भागते रहते हैं। इनसे भी बेइंतहा मोहब्बत करते हैं।

दूसरी रानी यानी की आपके रिश्‍तेदार

जिसने कहा कि मैं आपके साथ में जंगल तो नहीं जाऊंगी लेकिन अंतिम संस्कार जरूर करवा दूंगी। दूसरी रानी यानी कि आपकी फैमिली आपके फ्रेंड आपके वो लोग जिनसे आप बहुत सारा प्यार करते हैं।

जो फैमिली होते हैं, वह तो हमारे अंतिम संस्कार तक जाते हैं। यहां तक कि जहां दफनाया जाता है, जलाया जाता हैं, वहां तक जाते हैं। उसकी आगे वह लोग भी नहीं जाते।

चाह कर के भी आपके साथ इस दुनिया से नहीं जा सकते। इसलिए उसने कहा कि मैं आपका अंतिम संस्कार तक साथ दूंगी।

पहली रानी यानी की आपकी Soul (आत्‍मा)

जिसका आपने बिल्कुल ख्याल नहीं रखा। आपकी Soul (आत्मा) जो आपको फ्री में मिली थी। इंसान को जो भी चीज फ्री में मिलती है, उसकी कभी कदर नहीं करते हैं।

Real Life Inspirational Stories in Hindi 1Real Life Inspirational Stories in Hindi

हमारे साथ शुरुआत से आई है और इस आत्‍मा कि हमने कभी कदर नहीं की।  हम हमेशा इस दुनिया के पीछे भागते रहते हैं। कभी भी soul को क्या चाहिए? इसके बारे में हम कभी भी नहीं सोचते हैं।

इंटरनल हैप्पीनेस के बारे में कभी भी नहीं सोचते। कभी भी नहीं समझते। हम जानना ही नहीं चाहते। हम हमेशा दूसरी, तीसरी, चौथी, रानी के पीछे भाग रहे हैं। पहली रानी को लगातार neglect  कर दे जा रहे हैं।

ध्यान से सोचिएगा, जिंदगी में जब भी आपको कोई बड़ा डिसीजन लेना होता है। उस डिसीजन को लेने के बाद आप सबसे ज्यादा खुद की आवाज को सुनते हैं। दिल की आवाज को मतलब आपकी soul को सुनते हैं जो आपका हमेशा साथ देती है।

लाइफ के हर इंपॉर्टेंट डिसीजन में वो soul आपके साथ होती है। कई लोग कहते हैं कि मोटिवेशन की जरूरत होती है। रियल मोटिवेशन हमेशा अंदर से आता है। जब अंदर से आवाज आती कि तुझे कर दिखाना है तभी आप कर दिखाते हैं।

जिंदगी में हमेशा पहली रानी का यानी कि आपकी पहली पत्नी का यानी कि आपकी soul  का ख्याल रखें।

जिंदगी के हर डिसीजन में आपकी मदद करेगी आप को सुकून देगी। आपकी soul  के बारे में थोड़ा सोचिए और खुश रहें।

Also Recommend to Real Life Inspirational Stories in Hindi

दोस्‍तों! ये लेख Real Life Inspirational Stories in Hindi आपको कैसा लगा? यदि यह Hindi Article आपको अच्‍छा लगा तो आप इस हिंदी लेख को Share कर सकते हैं। 

इसके अतिरिक्‍त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें Email भी कर सकते हैं। आप हमारे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी हैं और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें। हमारी E-mail Id हैं- [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और Photo के साथ अपने Blog पर Publish करेंगे….धन्‍यवाद!

Leave a Reply

close