Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi- UPSC 2018

Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi

UPSC Exam pass करना हर किसी का सपना होता हैं। जिसमें कई लोगों को सफलता मिल भी जाती है लेकिन उनकी Rank बहुत अच्छी नहीं आती। ऐसे में कई लोग तब तक तैयारी जारी रखते हैं जब तक उनका Selection IAS पद के लिए नहीं हो जाता। आज हम लोग UPSC परीक्षा 2018 में 74वीं Rank हासिल कर IAS अफसर बनने वाले Pradeep Kumar Dwivedi की कहानी जानेगें।

Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi

प्रदीप को UPSC में दूसरे प्रयास में Success मिली लेकिन उनकी Rank 491 थी!  ऐसे में उन्होंने IAS अफसर का पद न मिलने तक कोशिश जारी रखने का फैसला किया। उनकी किस्मत ने उनका साथ दिया और अगले ही प्रयास में उनका Selection IAS पद के लिए हो गया।

किसान परिवार में हुआ जन्म

प्रदीप का यह सफर बुंदेलखंड के एक छोटे से गांव से शुरू हुआ था। उनके पिता किसान हैं और प्रदीप के घर में खेती का काम होता है। एक साधारण Hindi Medium School से प्रदीप ने अपनी स्कूल कि Education पूरी की!

UPSC (Union Public Service Commission ) का सपना प्रदीप का बचपन का सपना नहीं था, न ही उन्होंने अपनी School Life में कभी इस बारे में सोचा था।  स्कूल के बाद प्रदीप Engineering करने भोपाल चले गए और वहां से अपना Graduation  पूरा किया।

 Graduation के तुरंत बाद प्रदीप की भोपाल में ही बिजली विभाग में Job लग गई। यही वो समय था जब उनको पहली बार UPSC का ख्याल आया।

Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi

प्रदीप ने IAS बनने का सपना देखा

परीक्षा की तैयारी करने से पहले प्रदीप ने तय किया था कि वे दो प्रयास तक तो देखेंगे लेकिन अगर दो बार में उनका Selection नहीं होता है तो वे पहले कोई दूसरी नौकरी करेंगे उसके बाद ही आगे की तैयारी की योजना बनाएंगे। जबकि प्रदीप की Planning के अनुसार, चीजें नहीं हुईं और उन्हें सफलता तीसरे प्रयास में मिली!

तीसरे प्रयास में बने IAS अफसर

वैसे तो प्रदीप यह तय करके आए थे कि वह सिर्फ दो बार UPSC की परीक्षा में शामिल होंगे लेकिन उनका यह सफर करीब 3 प्रयास तक खिंच गया। दरअसल, पहले प्रयास में उन्हें असफलता मिली। जब उन्होंने दूसरा प्रयास किया तो उनका Selection हो गया।

 जबकि उनकी Rank 491 थी जिसकी वजह से उन्हें आईएएस का पद नहीं मिला। ऐसे में उन्होंने एक बार और प्रयास करने का मन बनाया। इस बार किस्मत ने भी उनका साथ दिया और उनकी All India Rank 74 रही। इस तरह उन्हें IAS (Indian Administrative Service) का पद मिल गया और उनका UPSC का सफर पूरा हो गया।

Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi

प्रदीप का UPSC सफर

प्रदीप का पहली बार में Selection नहीं हुआ। दूसरी बार में वे सेलेक्ट हुए और रैंक आयी 491. प्रदीप इससे satisfied नहीं थे जबकि दो बार में एग्जाम क्रैक करने का उनका लक्ष्य पूरा हुआ लेकिन Rank मन की नहीं मिली।

अंततः प्रदीप ने इस रैंक के तहत मिलने वाली सेवा Join कर ली लेकिन फिर से attempt दिया। इस प्रकार प्रदीप ने साल 2018 में तीसरी बार परीक्षा दी और इस साल उनकी कई सालों की मेहनत रंग लाई और वे 74वीं Rank के साथ IAS पद के लिए Select हो गए।

प्रदीप कई असफलता के दोड़ से गुजरे लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। गिरे लेकिन फिर उठ खड़े हुए और तब तक कोशिश की जब तक मंजिल मिल नहीं गई।

बिना कोचिंग के हुए सफल

प्रदीप अपनी तैयारी के विषय में बात करते हुए कहते हैं कि पहले तो Mains और Pre Exam को अलग-अलग न मानें, ये दोनों आपस में connected होते हैं। दूसरा Mains की तैयारी पहले शुरू करें, प्रदीप का मानना है कि Mains की तैयारी करेंगे तो Pre की अपने आप ही हो जाएगी।

उन्होंने UPSC परीक्षा के लिए किसी प्रकार की कोई कोचिंग नहीं ली थी और वे इसे जरूरी भी नहीं मानते। वे कहते हैं कि अगर आप एक ऐसी जगह से हैं जहां कोचिंग की सुविधा नहीं है तो बिलकुल परेशान न हों। Internet ने दुनिया इतनी छोटी कर दी है कि वहां से आप सभी प्रकार की सामग्री, गाइडेंस वगैरह पा सकते हैं। एक अच्छा Internet Connection आपके पास होना चाहिए और Internet के Use के समय Selected Topics ही देखें।

Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi

Self Study और रेग्यूलैरिटी ही दिलाते हैं सफलता

प्रदीप कहते हैं कि इस परीक्षा को पास करने के लिए Self Study सबसे जरूरी है। कहीं से कुछ भी जानकारी इकट्ठी कर लें लेकिन अंत में Self Study पर ही भरोसा करें। इसके साथ ही अगला अहम बिंदु है निरंतरता. जितना भी पढ़ें, रोज पढ़ें। एक शेड्यूल बना लें और उसी के अनुसार तैयारी करें। इसके अलावा लगातर Test देते रहें ताकि समय के अंदर अपनी कमियां पता चल जाएं।

अंत में बस इतना ही कि जो आपके हाथ में नहीं है उसके बारे में बिलकुल न सोचें पर जो आपके हाथ में है, उसमें अपना Best दें। आप किस Background के हैं, किस स्कूल से आपकी पढ़ाई हुई है, इन सब बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता। अगर आप मेहनत करने के लिए तैयार हैं तो सफलता निश्चित मिलेगी।

यदि आप सफलता चाहते है तो ये भी पढ़ें:- 

  1. Importance of Mentors in Hindi | Success के लिए Life में Mentor का क्या Role हैं?
  2. 6 Morning Habits of Successful People in Hindi | सफल लोगों की सुबह की आदतें
  3. दुनिया से हटकर काम कैसे करें? Real Successful Story Hindi
  4. 11 Chanakya Niti Hindi for Success | चाणक्य के रहस्य
  5. Take Risks in your Life for Success | सफलता के लिए रिस्क लेना हैं जरुरी!
  6. Network Marketing में सफल होने के 5 नियम | Direct Selling Business Success Key
  7. Chanakya Niti in Hindi to Decide Success: ये 4 बातें ही तय करती हैं कि आपको सफलता मिलेगी या नहीं?

दोस्‍तों! ये लेख Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi आपको कैसा लगा? यदि यह Hindi Article आपको अच्‍छा लगा तो आप इस Story को Share कर सकते हैं ता‍कि सबको फायदा हो सके।

इसके अतिरिक्‍त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें Email भी कर सकते हैं। आप हमारे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते हैं… धन्‍यवाद!

आप Pradeep Kumar Dwivedi का Interview देख सकते हैं। 

Success Story of IAS Topper Pradeep Kumar Dwivedi

Ravi Ranjan

मैं इस ब्लॉग का संस्थापक और एक ब्लॉगर हूँ। यहाँ पर मैं नियमित रूप से अपने पाठकों के लिए उपयोगी और मददगार जानकारी शेयर करता हूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *